प्रयागराज, जेएनएन। मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एमएनएनआइटी) की एमपी हॉल में आविष्कार-2019 का आयोजन किया जा रहा है। समापन समारोह की मुख्य अतिथि राज्य मंत्री स्वाती सिंह शामिल होने पहुंची हैं। उन्होंने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्‍होंने कहा कि नारी की पूजा करें या न करें लेकिन उन्हें अधिकार जरूर दें। लड़के और लड़कियों के बीच अंतर समाप्‍त हो। हमें और आपको सोच बदलना होगा, इसकी शुरुआत घर से ही करें।

मंत्री स्‍वाति ने कहा कि लड़कियों को सामान्य रूप से अधिकार मिलना चाहिए। संस्थान की पुरा छात्रा रह चुकीं राज्यमंत्री ने पुरानी यादें भी छात्र और छात्राओं से साझा कीं। उन्‍होंने कहा कि मैं मंत्री की हैसियत से नहीं, बल्कि पुरा छात्र की हैसियत से यहां आई हूं। उन्‍होंने कहा कि सरकार के द्वारा महिलाओं के लिए विभिन्न योजनाओं  चलाई जा रही है। इसके माध्यम से सुरक्षा का माहौल देकर उन्हें आगे बढ़ने हेतु प्रेरित किया जा रहा है।

मंत्री ने सलाह दी कि लड़कियां खुद को मजबूत बनाते हूऐ सेल्फ प्रोटेक्ट करें। कहा लड़कियों को सरकार द्वारा चलाई जा रही महिलाओं की सुरक्षा से संबंधित कानून की जानकारी होनी चाहिए।

मंत्री स्वाति सिंह का हुआ स्वागत

कार्यक्रम में शामिल होने के लिए राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार स्वाति सिंह मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में पहुंच चुकी हैं। उनका संस्थान के पदाधिकारियों ने स्वागत किया। समारोह का मंत्री ने शुभारंभ किया है। समारोह स्थल को आकर्षक ढंग से सजाया गया है।

 भावी टेक्नोक्रेट्स ने तैयारियों को दिया अंतिम रूप

भावी टेक्नोक्रेट्स ने शुक्रवार को फाइनल राउंड में टॉस्क पूरा करने में जुटे रहे। हालांकि देर शाम तक परिणाम की घोषणा नहीं हो सकी थी। आविष्कार-2019 के तहत बीटेक प्रथम वर्ष के छात्रों को तीन टॉस्क दिए गए थे। इसमें माइंड द पॉथ में चार सदस्यीय 35 टीमों ने प्रतिभाग किया। माइंड द ट्रैफिक में छह सदस्यीय 10 टीम और दक्ष में आठ सदस्यीय 10 टीमें प्रतिभाग कर रहीं थीं। तीन चरणों में पूरा करने वाले टॉस्क का फाइनल राउंड का परिणाम देर शाम घोषित नहीं हो सका।

छात्र उत्साह के साथ प्रतियोगिता में शामिल हुए

 इसके अलावा संस्थान में उत्तर भारत की सर्वश्रेष्ठ क्विज प्रतियोगिता नोसोमेनिया में छात्रों का उत्साह देखने लायक था। बिज टेक-क्विज, मेला क्विज और स्पोट्र्स क्विज में क्विज मास्टर सोमनाथ चंडा ने सभी को अपने कठिन सवालों से छकाया। जेनेसिस के अंतर्गत सेंट्रल डोगमा ने छात्रों की रचनात्मकता, गहन सोच तथा सामान्य ज्ञान की परीक्षा ली। मोनोपोली के अंतर्गत चाणक्य नीति ने छात्रों की विश्व व्यापार संबंधी समझ का जायजा लिया। अर्थशास्त्र से जुड़ा हुआ यह एकमात्र कार्यक्रम था तो इसमें सभी वर्ष के और सभी विभागों के छात्रों ने हिस्सा लिया।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप