प्रयागराज, जागरण संवाददाता। कुंभ मेला और माघ मेला में चिकित्सा व्यवस्था संभालने वाले अनुभवी आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी डा. रविंद्र का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। प्रयागराज स्थित घर में ही छाती में तेज दर्द होने पर परिवार के लोगों ने उन्हें स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय (एसआरएन) के कार्डियोलॉजी विभाग में भर्ती कराया था। वहां सोमवार की रात करीब 11:30 बजे उनका निधन हो गया। इससे स्वास्थ्य विभाग में शोक व्याप्त हो गया। मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिवार को सौंप दिया गया।

जौनपुर के निवासी थे आयुर्वेदिक चिकित्‍साधिकारी : मूलरूप से जौनपुर के रहने वाले 48 वर्षीय डा. रविंद्र स्वास्थ्य विभाग में अपनी ज्‍वाइनिंग के बाद से प्रयागराज में ही तैनात रहे। यहां पर सेवाएं देते हुए उन्हें करीब 11 वर्ष हो चुके थे। पूर्व में ग्रामीण क्षेत्र के अस्पताल में उनकी तैनाती थी, फिर उन्हें माघ मेले में चिकित्सा सेवा के लिए भेजा गया।

प्रयागराज के माघ मेला प्राधिकरण में थे तैनात : वर्तमान में डा. रविंद्र की तैनाती मुख्य चिकित्सा अधिकारी के अंतर्गत माघ मेला प्राधिकरण में थी। कुंभ मेला 2019 के साथ ही कई माघ मेला में स्वास्थ्य सेवाओं की जिम्मेदारी डा. रविंद्र ने बखूबी संभाली थी। मेले में सैनिटाइजेशन, सफाई और अन्य कार्यों के लिए उन्हें काफी अनुभव था।

सीएमओ बोले- दिल का दौरा से निधन : प्रयागराज के मुख्य चिकित्साधिकारी डा. नानक सरन ने बताया कि डा. रविंद्र कैंट क्षेत्र में परिवार के साथ रहते थे। सोमवार की रात घर पर ही उन्हें दिल का दौरा पड़ा तो परिवार के लोगों ने स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में ले जाकर भर्ती कराया। हालत ज्यादा बिगड़ी थी देर रात की मौत हो गई।

Edited By: Brijesh Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट