Move to Jagran APP

Pratapgarh News: प्रयागराज-अयोध्‍या रेल लाइन के किनारे लहूलुहान मिले दो युवक, एक की मौत

प्रयागराज-अयोध्‍या रेलमार्ग पर प्रतापगढ़ के विश्वनाथगंज रेलवे स्‍टेशन से प्रयागराज की तरफ लगभग एक किलोमीटर दूर भावलपुर गांव है। गांव की मुस्लिम बस्ती के पास करीब 30 वर्षीय और 32 वर्षीय दो अज्ञात युवक रेलवे लाइन के किनारे खून से लथपथ हालत में पड़े थे। एक की मौत हो गई।

By Brijesh SrivastavaEdited By: Sun, 24 Jul 2022 10:59 AM (IST)
प्रतापगढ़ के विश्‍वनाथगंज रेलवे स्‍टेशन के निकट दो युवकों को लहूलुहान हालत में ट्रेन के लोको पायलट ने देखा।

प्रयागराज, जेएनएन। यूपी के प्रतापगढ़ जिले में बड़ा हादसा हो गया। प्रयागराज-अयोध्‍या रेलमार्ग पर विश्‍वनाथगंज रेलवे स्‍टेशन के निकट रेल ट्रैक के किनारे लहूलुहान हालत में दो युवक देखे गए। रविवार की सुबह साकेत एक्‍सप्रेस ट्रेन के लोको पायलट ने उन्‍हें देखा तो स्‍टेशन मास्‍टर को सूचित किया। स्‍टेशन मास्‍टर की सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों को अस्‍पताल ले गई, जहां एक युवक को मृत घोषित कर दिया गया। वहीं एक युवक की हालत गंभीर बनी है। दोनों युवकों के साथ हादसा हुआ है या फिर जानलेवा हमला किया गया, पुलिस पड़ताल कर रही है।

विश्‍वनाथगंज रेलवे स्‍टेशन के निकट की घटना : प्रयागराज-अयोध्‍या रेलमार्ग पर प्रतापगढ़ के विश्वनाथगंज रेलवे स्‍टेशन से प्रयागराज की तरफ लगभग एक किलोमीटर दूर भावलपुर गांव है। गांव की मुस्लिम बस्ती के पास करीब 30 वर्षीय और 32 वर्षीय दो अज्ञात युवक  रेलवे लाइन के किनारे खून से लथपथ हालत में पड़े थे। रविवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे प्रयागराज से अयोध्या साकेत एक्सप्रेस जा रही थी।

साकेत एक्‍सप्रेस के लोको पायलट ने स्‍टेशन मास्‍टर को सूचना दी : साकेत एक्‍सप्रेस के लोको पायलट ने युवकों को लहूलुहान हालत में रेलवे लाइन के किनारे देखा तो विश्वनाथगंज रेलवे स्टेशन पर स्टेशन मास्टर शिव प्रसाद प्रजापति को इसकी सूचना दी उन्होंने 112 नंबर को फोन का सूचना दिया मौके पर पहुंची। उन्होंने थाना मांधाता और आरपीएफ को सूचना दी मौके पर आरपीएफ कोतवाल मांधाता वीरेंद्र सिंह यादव पहुंचे। एक युवक की सांसे चल रही थी। उन्होंने दोनों युवकों को एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजवाया। डाक्‍टरों ने एक युवक को मृत घोषित कर दिया जबकि दूसरे का इलाज हो रहा है। स्टेशन मास्टर और कोतवाल मांधाता ने बताया कि दोनों युवकों की पहचान अभी नहीं हो सकी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद एक युवक की मौत की वजह पता चलेगी और जांच तेज होगी।

कौशांबी में करंट से युवक की मौत : कौशांबी जिले में पिपरी इलाके के कसेंदा गांव में रविवार की सुबह खेत की सुरक्षा के लिए तार बांध रहे युवक की करंट से मौत हो गई। उसका शव तीन घंटे तक खेत में ही पड़ा रहा। उधर गए भतीजे ने देखा तो परिवार के लोगों को सूचित किया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

खेत में तार लगाते समय हुआ हादसा : पिपरी थाना के कसेंदा गांव निवासी जगदीश प्रसाद किसान हैं। उनका तीसरे नंबर का 26 वर्षीय बेटा अभिजीत उर्फ मोटे पिता के साथ खेती में हाथ बटाता था। रविवार की सुबह करीब छह बजे अपने निजी नलकूप से खेत में पानी लगाकर पास लगी भिंडी की फसल को मवेशियों से सुरक्षा के लिए खेती के चारों ओर तार बांध रहा था। इस बीच खंभा में लगे सपोर्ट वायर से अभिजीत द्वारा लगाई जा रही तार स्पर्श कर गई। तार में उतरे करंट की चपेट में आकर अभिजीत की मौत हो गई।

तीन घंटे खेत में ही पड़ा रहा युवक : नलकूप पर रहे पिता और घर के अन्‍य सदस्य इस हादसे से बेखबर थे। करीब तीन घंटे तक उसका शव खेत में पड़ा रहा। बिजली कटने के बाद भी जब वह नलकूप पर जब नहीं लौटा तो उसका भतीजा गोरे उस तरफ गया। अभिजीत को मृत देखकर उसके होश उड़ गए। घटना की जानकारी होने पर स्वजनों का रोना पिटना मचा रहा। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।