प्रयागराज, जेएनएन। अब शहरवासियों को और सावधान रहने की आवश्यकता है। क्योंकि मंगलवार के बाद तापमान में और तेजी से बढ़ोतरी के आसार हैं। ऐसा अनुमान सूर्य के लंबवत होते जाने की वजह से मौसम विज्ञानी लगा रहे हैं। सूर्य के लंबवत होने से किरणें सीधी धरती पर आएंगी और ज्यादा ऊष्मा के कारण गर्मी बढ़ेगी। लिहाजा, लोग आग बरसाती धूप झेलने के लिए तैयार रहें। 

सूर्य की तल्ख किरणें शरीर को झुलसा रही हैं 

इन दिनों यह हाल है कि दोपहर में सूर्य की सीधी किरणों को झेलना दूभर हो गया है। सड़कों पर सन्नाटा और बाजारों में आवाजाही कम होना इसका उदाहरण है। हालांकि हवा की वजह से सुबह और शाम कुछ राहत का एहसास भी होता है। दोपहर में सड़कों पर लोग आवश्यक कार्य की वजह से ही निकलते हैं, और वह भी पूरे शरीर को ढंककर ही।

लू के थपेड़े कर रहे परेशान

 आज भी सुबह वायुमंडल में थोड़ी नमी के कारण हल्की हवा चल रही थी। इससे गर्मी हावी नहीं हो सकी, लेकिन उमस बरकरार रहने से लोगों में बेचैनी रही। नौ बजे के बाद नमी खत्म होने पर धूप असर दिखाने लगा। दोपहर में पछुआ तेज हवा लू बनकर बही। लू के थपेड़े चेहरे को झुलसा रहे थे तो धूप की तेजी शरीर को जलाने वाली रही। इसकी वजह से चार-पांच बजे तक व्यस्त रहने वाली सड़कों पर भी लगभग सन्नाटा रहा। आर्द्रता में वृद्धि से तेज उमस के कारण कूलर और पंखे पर्याप्त हवा नहीं दे पा रहे हैं।

कहते हैं मौसम विज्ञानी

डॉ. सविंद्र सिंह का कहना है कि सूरज लंबवत होता जा रहा है, जिससे मंगलवार के बाद पारा और चढ़ेगा। पछुआ हवा लू के रूप में बहती रहेगी। लेकिन महीने के अंत में प्री-मानसून के आसार हैं। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava