प्रयागराज, जेएनएन। पडोसी जनपद प्रतापगढ़ के आसपुर देवसरा थाने में तैनात हेड मोहर्रिर ने ही अपने थानाध्यक्ष के खिलाफ हर एफआइआर पर 15 हजार रुपये लेने का आरोप लगाकर पुलिसिया कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है। क्षेत्राधिकारी को दिए गए पत्र में उत्पीडऩ का आरोप लगाते हुए उसने वर्तमान थानाध्यक्ष के रहते काम ना कर पाने की बात भी कही है। इधर पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह का कहना है कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं मिली है। शिकायत मिलते ही जांच कराकर कार्रवाई करेंगे। दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

सीओ को दिया शिकायती पत्र

आसपुर देवसरा थाना के हेड मुहर्रिर मिथिलेश मिश्रा ने सीओ पट्टी को दिए प्रार्थना पत्र में कहा है कि थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह उसका उत्पीडऩ कर रहे हैं। कोई भी फरियादी एफआइआर दर्ज कराने आता है तो उससे 10 हजार से 50 हजार रुपये लिया जाता है, तभी एफआइआर दर्ज होती है। दूसरा पक्ष एफआइआर लिखाने आता है तो उससे भी रुपया लेकर रिपोर्ट लिखी जाती है। एक व्यक्ति का मारपीट के दौरान हाथ पैर टूट गया था, उसकी एक्स-रे रिपोर्ट भी आ गई थी। वह 10 दिन से परेशान था। उसकी रिपोर्ट तभी लिखी गई जब 15 हजार रुपये लिए गए।

एसओ बोले, हेड मोहर्रिर ही दोषी

उधर एसओ सुनील कुमार सिंह का कहना है कि हेड मुहर्रिर ही लूट-खसोट में संलिप्त हैैं। कप्तान साहब ने एक प्रार्थना पत्र पर एफआइआर दर्ज करने का आदेश दिया था। फरियादी से रुपये नहीं पाए तो प्रार्थना पत्र को फाड़ कर फेंक दिया था।

Edited By: Brijesh Srivastava