प्रयागराज, जेएनएन। पड़ोसी जनपद कौशांबी स्थित कोखराज थाना क्षेत्र के चमंधा गांव में दो दिन से लापता दिव्यांग युवक की लाश कुएं में पड़ी मिली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और शव को कब्जे में ले लिया। अब परिवार के लोगों ने किसी तरह का कोई आरोप नहीं लगाया है।

ट्रेन हादसे में अशर्फी हादसे में दिव्यांग हो गया था

चमंधा निवासी अशर्फी लाल का 35 वर्षीय पुत्र सुखलाल तीन साल पहले ट्रेन हादसा का शिकार हो गया था। उसके एक पैर व दोनों हाथ की हड्डियां टूट गई थी। इससे वह कोई भारी काम नहीं कर पाता था। सुखलाल की पत्नी पुष्पा ने बताया कि वह प्रयागराज में भीख मांग कर किसी प्रकार परिवार का भरण-पोषण होता था। उसके तीन बच्चे भी हैं। कुछ माह से सुखलाल काफी परेशान रहा करता था। आए दिन शराब के नशे में धुत भी रहा करता था। कमाई के आधे रुपये की वह दिनभर में शराब पी जाता था। पुष्पा ने बताया कि दो दिन पहले वह घर से प्रयागराज के लिए निकला। इसके बाद लापता हो गया। परिवार के लोगों ने उसकी काफी खोजबीन की।

आज दोपहर कुएं में मिली लाश

प्रयागराज शहर के अलावा तमाम रिश्तेदारों के यहां भी पता लगाया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। पुष्पा ने बताया कि सोमवार की दोपहर करीब दो बजे कुछ ग्रामीणों ने गांव के बाहर एक कुएं में उसकी लाश देखी। इसकी खबर से गांव में सनसनी फैल गई। देखते ही देखते लोगों की भीड़ इक_ा हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक को कुएं से बाहर निकाला। परिवार वाले पूछताछ में घटना के पीछे कोई कारण नहीं बता पाए। हत्या या फिर खुदकशी, इसे लेकर लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं। कोतवाल अजीत कुमार पांडेय का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद भी आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप