प्रयागराज, जेएनएन। पुलिस कर्मियों पर हमले के 19 साल पुराने मामले में पूर्व सपा विधायक विजमा यादव को एमपी एमएलए कोर्ट ने गुरुवार को जमानत दे दी। इसके बाद शाम को उन्हें नैनी सेंट्रल जेल से छोड़ दिया गया। जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष की ओर से कहा गया कि कथित घटना के बारे में अभियुक्त को कोई जानकारी नहीं है। वह रक्तचाप व आंख की बीमारी से पीडि़त हैं। 

जमानत की शर्तों को पूर्ण करने पर अभियुक्त को नैनी जेल से रिहा करने का आदेश

एमपी एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी के समक्ष बचाव पक्ष व अभियोजन पक्ष की ओर से दलील पेश की गई। कोर्ट ने अपने निष्कर्ष में पाया कि मामले में सह अभियुक्तों की जमानत सेशन कोर्ट से स्वीकृत है। ऐसे में जमानत की शर्तों को पूर्ण करने पर अभियुक्त विजमा यादव को नैनी जेल से रिहा किया जाए।

पुलिस कर्मियों पर हमले का 19 साल पुराने मामले में आरोपित हैं पूर्व विधायक

बता दें कि करीब 19 साल पहले सरायइनायत थाना क्षेत्र के अंदावा इलाके में सड़क हादसे में एक लड़के की मौत हो गई थी। नाराज लोगों ने शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया था। आरोप है कि इसी दौरान विजमा यादव के उकसाने पर लोगों ने फायङ्क्षरग, पथराव व तोडफ़ोड़ की। इसमें पुलिस अधिकारी समेत कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए थे। मुकदमा एमपी एमएलए कोर्ट में चल रहा है। सुनवाई की तारीखों पर हाजिर न होने पर कोर्ट ने बुधवार को विजमा यादव को हिरासत में लेकर नैनी जेल भेज दिया था।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021