प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस का संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा है। अब इसका असर नैनी जेल तक पहुंच चुका है। शनिवार की देर रात तक प्रयागराज में कोरोना के पांच नए पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें से एक मरीज नैनी जेल का बंदी है। वहीं प्रतापगढ़ के रानीगंज में भी एक सामने आया है। वहीं प्रतापगढ़ में रानीगंज  के दमदम गांव के पास स्‍वजन और रिश्तेदार शनिवार की देर रात युवक का शव छोड़कर भाग गए। कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका में ऐसा किया।

करेली का मरीज नैनी जेल भेजा गया था

प्रयागराज में कोरोना वायरस के नोडल अधिकारी डॉ. ऋषि सहाय ने बताया कि तुलसीपुर करेली का 25 वर्षीय युवक 24 मई को नैनी जेल भेजा गया था। कुल 21 बंदियों की जांच में इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं फूलपुर ब्लाक के फरीदाबाद गांव में दो सगे भाई संक्रमित मिले हैं। दोनों 26 मई को मुंबई से आए थे। इसके अलावा करेली की एक महिला भी कोरोना से संक्रमित मिली है। इनके अलावा पांच साल की एक बच्ची भी कोरोना पॉजिटिव मिली है। शनिवार की देर रात तक 245 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव रही।

कोरोना की आशंका में युवक का शव छोड़कर भागे लोग

प्रतापगढ़ जिले के रानीगंज क्षेत्र के दमदम गांव के पास स्‍वजन और रिश्तेदार शनिवार की देर रात युवक का शव छोड़कर भाग गए। युवक तीन दिन पहले मुंबई से आया था। उसे शनिवार की रात सांस लेने में तकलीफ हुई तो प्रयागराज ले जाया गया। वहां उसकी मौत हो गई। युवक का कोरोना का सैंपल नहीं लिया गया था। कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका में परिजन लाश लेकर घर नहीं गए और दमदम गांव के पास सड़क के किनारे रख कर भाग खड़े हुए।

सांसद ने अंतिम संस्कार की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया

परिजनों द्वारा शव छोड़कर फरार होने की सूचना ग्रामीणों ने स्वास्थ्य कर्मियों और पुलिस को दी। सूचना मिलने पर स्वास्थ्य कर्मी दमदम गांव पहुंचे, जहां लाश थी। हालांकि युवक में कोरोना वायरस की आशंका जताई गई थी, इसलिए लेकिन सुरक्षा किट न होने से उन्होंने भी हाथ नहीं लगाया। इस मामले में जानकारी होने पर सांसद संगम लाल गुप्ता ने डीएम और सीएमओ से युवक के अंतिम संस्कार की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया है।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस