प्रयागराज : होली सबको प्यारी है। सब इसके रंग में सराबोर होना चाहते हैं लेकिन यह होली कहीं आपके चेहरे का नूर न छीन ले। होली खेलने के पहले अपनी त्वचा की सुरक्षा से जुड़े उपायों के बारे में जानना बहुत जरूरी है। कई बार होली के रंगों का त्वचा पर खराब असर होता है, खासकर चेहरे की त्वचा पर क्योंकि यह अधिक नाजुक होता है।

बाजार में रासायनिक रंगों की भरमार

बाजारों में रासायनिक रंगों की भरमार है। अधिकतर युवा वर्ग ऐसे रंगों से ही होली खेलना पसंद करता है जो त्वचा के लिए हानिकारक होता है। प्रयास यह करें कि होली खेलने में प्राकृतिक रंगों का ही इस्तेमाल किया जाए तो बेहतर होगा। तेल, मोबिल जैसी चीजों को शरीर पर कतई न डालें।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

मोतीलाल नेहरू मंडलीय अस्पताल (काल्विन) के त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. शक्ति बसू बताते हैं कि होली खेलने के पहले तिल, जैतून, नारियल या क्रीम आदि त्वचा पर लगा लें। इससे त्वचा पर खास प्रभाव नहीं पड़ेगा। आंख, नाक, कान जैसे नाजुक अंगों पर रंग न लगाना चाहिए। चेहरे से रंग छुड़ाते समय साबुन लगाकर न रगड़ें। रंग छुड़ाने में उबटन, दूध आदि का प्रयोग करें। रंग लगाकर ज्यादा देर तक धूप में न बैठें।

आंखों के आस-पास लगाएं तेल

बेली अस्पताल के सीनियर आप्ट्रोमेट्रिस्ट डॉ. एसएम अब्बास आंखों को सुरक्षित रखने का टिप्स दे रहे हैं। बताते हैं कि होली खेलने के पहले आंखों के आस-पास नारियल का तेल या क्रीम लगा लें। यदि आंखों मे रंग पड़ गया है तो उसे हाथ से न रगड़ें। साफ पानी से आंख को धुलें। प्लेन एंटीबायटिक या ल्युब्रीकेंट्स आई-ड्राप डालें।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस