प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज को वाराणसी से जोडऩे वाले शास्त्री पुल पर स्ट्रीट लाइटें लंबे समय से बुझी पड़ी हैं। रात में पुल पर अंधेरा होने के कारण आने-जाने वालों को दिक्कत होती है। हालांकि प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने सावन में कांवड़ यात्रा शुरू होने पर पुल की कुछ लाइटें सही कराई थीं लेकिन बाद में इसमें से ज्यादातर फिर खराब हो गईं। अभी इन लाइटों को ठीक कराने के लिए टेंडर की प्रक्रिया ही पूरी नहीं हो सकी है, ऐसे में माघ मेला के पहले इन लाइटों के ठीक होने की उम्मीद बेहद कम है।

शास्त्री पुल पर 242 स्ट्रीट लाइटें लगी हैैं

शास्त्री पुल पर 242 स्ट्रीट लाइटें लगी हैैं। जिसमें से आने और जाने वाले मार्ग पर 121-121 लाइटें हैैं। कुंभ मेला के पहले पुल की रंगाई के साथ एलईडी स्ट्रीट लाइटें भी ठीक की गई थीं। मेला अवधि तक तो इनकी देखरेख होती रही जिससे सभी लाइटें बराबर जलती रहीं लेकिन मेला खत्म होने के कुछ समय बाद ही एक-एक कर ज्यादातर लाइटें खराब हो गईं। सावन माह शुरू होने के पहले लाइटों को ठीक करने का आदेश हुआ तो प्रयागराज विकास प्राधिकरण के अधिशासी अभियंता विद्युत एके सिंह की देखरेख में सड़क के दोनों हिस्सों में 65-65 लाइटें ठीक कराई गईं। इससे कुछ सहूलियत हुई लेकिन अगस्त में कांवड़ यात्रा खत्म होने के साथ ही ज्यादातर लाइटें खराब हो गईं।

जुलाई में ही होना था टेंडर

शास्त्री पुल पर स्ट्रीट लाइटों को ठीक कराने के लिए टेंडर जुलाई में होना था। कांवड़ यात्रा की शुरूआत के पहले लाइटों की मरम्मत के दौरान पीडीए के अधिशासी अभियंता एके सिंह ने बताया था कि 20 जुलाई को टेंडर होंगे लेकिन आधा सितंबर बीतने के बाद भी  टेंडर की प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। प्रभारी मुख्य अभियंता रोहित खन्ना का कहना है कि टेंडर की प्रक्रिया चल रही है। जल्द ही उसे अंतिम रूप देकर टेंडर जारी किया जाएगा।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप