प्रयागराज, राज्य ब्यूरो। दीपावली करीब है। इसके पहले दशहरा गुजर चुका है। कुला मिलाकर जबरदस्त त्योहारी मौसम है और ऐसे में शौकीनों के जाम छलकाने की चाहत की वजह से शराब की खपत बढ़ जाती है। ऐसी स्थिति में अवैध शराब बनाने और उसकी बिक्री रोकने के लिए पूरे राज्य में आबकारी विभाग ने सख्ती शुरू कर दी है। जिला स्तर पर अधिकारियों को नियमित छापेमारी करने के निर्देश दिए गए हैैं। इसमें पुलिस-प्रशासन की भी मदद ली जा रही है। छापामारी ग्रामीण क्षेत्रों अधिक होगी। बाग, नदियों के किनारे, कछारी इलाकों में विशेष नजर रखी जाएगी क्योंकि अवैध शराब बनाने का मामला इन्हीं क्षेत्रों में ज्यादा होता रहा है।

त्योहारों पर ज्यादा होती है अवैध बिक्री

सूबे में शराब का अवैध कारोबार रोकने के लिए आबकारी विभाग नियमित अभियान चलाता है, लेकिन दीपावली के मद्देनजर यह अभियान और तेज किया जाएगा। इसके लिए जिला स्तर पर अधिकारियों को सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है। हाइवे, ढाबों पर 24 घंटे चेकिंग अभियान चलाने के साथ ग्रामीण और पिछड़े इलाकों में नियमित छापामारी करने के निर्देश दिए गए हैैं। किसी जिले में जहरीली शराब पीने से किसी की मृत्यु होती है तो उसके लिए जिला आबकारी अधिकारी को जवाबदेह माना जाएगा।

बंद फैक्ट्रियों पर नजर

शराब की बंद हो चुकी फैक्ट्रियों पर अवैध रूप से मदिरा बनाने का मामला पकड़ में आता रहा है। इसी कारण आबकारी विभाग की विशेष नजर शराब की बंद फैक्ट्रियों पर भी है। ऐसी फैक्ट्रियों की सूची बनाकर उसकी नियमित चेकिंग की जाएगी।

अवैध शराब बनाने वालों की निगरानी

आबकारी टीमों को ऐसे लोगों पर नजर रखने का निर्देश है जो शराब का अवैध कारोबार करने के आरोप में जेल जा चुके हैं। ऐसे लोग जेल से छूटने के बाद क्या कर रहे हैं, उस पर नजर रखी जाएगी। अगर पुन: अवैध शराब के कारोबार में लिप्त मिले तो कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस बीच गुरुवार सुबह आबकारी टीम ने प्रयागराज के बहरिया इलाके में अवैध शराब के अड्डे पर छापेमारी की और महुआ लहन नष्ट कर बरामदगी की।

Edited By: Ankur Tripathi