करंट के चपेट मे आने से बिजली कर्मी की मौत

प्रयागराज : कल्याणपुर के बगियापुर कल्याणपुर निवासी 33 वर्षीय अनिल कुमार उर्फ बचोले पुत्र मिठाई लाल कल्याणपुर उपकेंद्र में पावर हाउस में संविदा कर्मी था। गुरुवार रात रात कल्याणपुर मे ही लगभग साढ़े नौ बजे पोल पर चढ़कर लाइट बना रहा था। अचानक  करंट की चपेट मे आने से बेहोश हो गया। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जेई अमित सेठ ने बताया कि इस समय अनिल कुमार  की कार्य क्षेत्र होलागढ पावर हाउस किया गया था। जरूरत पड़ने पर कल्याणपुर में काम कराया जाता था। शुक्रवार रात अनिल कुमार पावर हाउस को बिना सूचना  दिए काम कर रहा था।  क्षेत्र मे कई तरह की चर्चाएं है। बेटा सोनू, बेटी दुर्गा और पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है। हाईटेंशन तार की चपेट में आई महिला, झुलसी संसू, भीरपुर : करछना थाना क्षेत्र के मझुआ गांव निवासी शशि देवी पत्नी उमेश पटेल खेत में सिंचाई के लिए बिछाई गई पाइप को सिर पर रखकर वापस लौट रही थी। रास्ते में जमीन से काफी नीचे लटक रहे हाईटेंशन बिजली के तार की जद में आ गई, जिससे महिला घायल हो गई। स्वजन ने अस्पताल में भर्ती कराया, जहां हालत सामान्य बताई जा रही है। लटक रहे बिजली के तार को लेकर गांव के लोगों द्वारा पूर्व में शिकायत भी की जा चुकी है, लेकिन विभाग की उदासीनता के चलते उसे ठीक नहीं कराया जा सका। सर्पदंश से छात्रा की मौत संसू, उग्रसेनपुर : मुंगरा बादशाहपुर थाना अंतर्गत इटहरा निवासी सुरेश बिन्द मय परिवार फूलपुर के पिड़ौना गांव में रहता है। यहां उसकी ससुराल है। उसके तीन संतानें है। इनमें आशीष, गौरी व लक्ष्मी है। लक्ष्मी गांव के ही संविलियन विद्यालय में कक्षा सात की छात्रा थी। रात में लक्ष्मी, गौरी अपनी मां के पास छप्पर में लेटी हुई थी। लगभग दो बजे रात्रि एक सर्प छप्पर से लक्ष्मी के ऊपर गिरा और डंस लिया। स्वजन पहले झाड़ फूंक वालों के पास लेकर भागे जब आराम न हुआ तो अस्पताल ले जाने लगे। रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। सर्पदंश से बालिका की मौत संसू, नारीबारी : हिनौती लुण्डेर निवासी राम लखन वर्मा की पांच वर्षीय पुत्री प्रिया गुरुवार शाम घर में खेल रही थी। तभी सांप ने डस लिया। स्वजन आनन फानन में नारीबारी स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। पीएचसी प्रभारी डा राजेश सिंह ने बताया एंटी स्नैक वैक्सीन मात्र सीएचसी में ही उपलब्ध रहती है। हालांकि, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अठारह किलोमीटर दूर है। स्वजन प्रिया को निजी अस्पताल में ले गए, जहां उसकी मौत हो गई।

Edited By: Jagran