मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

इलाहाबाद (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज हैंडपम्प पर स्नान का लुत्फ उठाया। इसके बाद वहीं पर एक आईना देखकर अपने बालों को भी संवारा।

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कल रात सोरांव तहसील के बिजलीपुर गांव में चौपाल लगाकर गांव के लोगों की समस्या को सुना। इसके बाद वहीं पर रात्रि विश्राम भी किया। आज सुबह उठकर उन्होंने अखबार पढऩे के बाद चाय पी और फिर हैंडपम्प पर स्नान किया। स्नान के बाद हैंडपम्प के पास ही एक आईना देखकर अपने बाल को संवारा और फिर चौपाल की ओर निकल गए।

चौपाल में डिप्टी सीएम ने लगाई अफसरों को फटकार

इलाहाबाद के कौडि़हार ब्लाक अंतर्गत बिजलीपुर गांव में कल चौपाल में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के सामने अफसरों की कार्यशैली की हकीकत सामने आई। इससे खफा डिप्टी सीएम मौर्य ने कई अफसरों को फटकार लगाई। नहरों में पानी नहीं आने की शिकायत पर सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता, अवर अभियंता के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया। एक लेखपाल पर रिश्वत लेने के आरोप लगा तो एसडीएम सोरांव को निर्देशित किया कि वह संबंधित लेखपाल को निलंबित करें।

कौडि़हार ब्लाक में गंगा किनारे स्थित बिजलीपुर गांव में रात करीब आठ बजे ग्र्राम स्वराज अभियान के क्रम में लगी चौपाल में डिप्टी सीएम के सामने ग्रामीणों ने तमाम शिकायतें की। नहर में पानी नहीं आने की शिकायत पर उन्होंने शारदा सहायक नहर के एक्सईएन को तलब किया, लेकिन वह अनुपस्थित थे। इस पर डिप्टी सीएम ने डीएम सुहास एलवाई को एक्सईएन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया। शारदा सहायक नहर के अवर अभियंता ने गलत बयानी की तो उनका वेतन काटने की हिदायत दी गई। गांव के लेखपाल सुशील कुमार पाल के खिलाफ वरासत के नाम पर 25 हजार रुपये रिश्वत मांगने की शिकायत हुई।

डिप्टी सीएम ने उसे निलंबित करने का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री आवास योजना में पात्र व्यक्तियों के चयन में अनियमितता पर बीडीओ के साथ ही लेखपाल और सेक्रेटरी को फटकार लगाई। मीटर लगाने के बावजूद घर में कनेक्शन न देने पर एसई के साथ ही एक्सईएन को रवैये में सुधार लाने को कहा। जिला समाज कल्याण अधिकारी व जिला दिव्यांग कल्याण अधिकारी को चेतावनी दी गई। कहा गया कि योजनाओं का लाभ पात्रों को जल्द से जल्द पहुंचाएं। जिला पूॢत अधिकारी को जनता के सामने ही तलब कर उन्हें फटकार लगाई। चौपाल के बाद डिप्टी सीएम रात्रि निवास के लिए प्राथमिक विद्यालय में गए। फिर गांव में ही रीता सरोज के घर भोजन किया। इस दौरान कई पार्टी पदाधिकारी उनके साथ थे। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप