प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस ने देश-दुनिया को परेशान कर रखा है। इस महामारी से निपटने के लिए अपने देश में भी पीएम मोदी ने लाकडाउन की घोषणा की है। ऐसे में विदेश से जिले में आने वाले उन लोगों के खिलाफ अब मुकदमा दर्ज कराया जाएगा, जो छिपे हुए हैैं। वैसे प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीमें ऐसे लोगों को मोबाइल के जरिए ट्रैक कर रही हैं। इसी क्रम में गुरुवार को 67 लोगों को इसी तरह ट्रैक किया गया है। सभी की मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने चिकित्सकीय जांच की और फिर फौरन होम क्वारंटाइन कर दिया।

मार्च में विदेशों से 500 लोग आए हैं, उन्होंने एयरपोर्ट पर अधूरी जानकारी दी है

मार्च माह में विदेशों से आने वाले लगभग 500 लोगों की सूचना प्रशासन को मिली है। ऐसे लोगों ने दिल्ली, मुंबई, वाराणसी व पटना एयरपोर्ट पर उतरे तो वहां अपनी पूरी जानकारी नहीं दी। जिले का नाम तो प्रयागराज दिया मगर ज्यादातर लोगों ने पता गलत दर्ज करा दिया। हालांकि कई लोगों के मोबाइल नंबर सही थे, जिसके जरिए अब उन्हें ट्रैक किया जा रहा है। यही नहीं गांवों में प्रधानों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों, कोटेदारों, लेखपालों, ग्राम पंचायत अधिकारियों, आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ताओं को भी ऐसे लोगों को ट्रैक करने के लिए लगाया गया है। इसके जरिए ही गुरुवार को 67 लोगों को ट्रैक किया गया।

विदेश से आए 400 से अधिक लोगों को ट्रैक किया जा चुका है, सभी क्वारंटाइन में हैं

इनमें ज्यादातर खाड़ी देशों से आए हैैं। अब तक जिले में विदेश से आने वाले 400 से ज्यादा लोगों को ट्रैक किया जा चुका है, जिन्हें होम क्वारंटाइन में रखा गया है। इनके घरों पर नोटिस भी चस्पा कर दी गई है। हालांकि 50 के करीब अब होम क्वारंटाइन की समय सीमा से बाहर निकल चुके हैैं। हालांकि उनकी निगरानी कराई जा रही है। विदेश से आए सभी लोगों की लोकेशन भी वाट्सएप ग्रुप पर सुबह, दोपहर और शाम को ली जा रही है।

कई संक्रमित शहरों से आने वालों को भी सूचीबद्ध किया गया है

इसके अलावा देश के विभिन्न संक्रमित शहरों से आने वाले लगभग सात हजार लोगों को ट्रैक करते हुए उन्हें सूचीबद्ध कर लिया है। इन सबको नोटिस दी गई है। इनकी भी जांच कराई गई और सेल्फ आइसोलेट किया गया है। इनमें ज्यादातर लोग मुंबई, दिल्ली, गाजियाबाद, पंजाब, गुजरात और राजस्थान से आए लोग शामिल हैैं।

डीएम बोले-विदेश से आने वाले खुद ही कंट्रोल रूम में सूचित करें वरना केस दर्ज होगा

डीएम ने भानुचंद्र गोस्वामी ने बताया कि जो भी विदेश अथवा देश के किसी अन्य शहर से आए हैैं, उन्हें खुद ही कंट्रोल रूम को सूचना देनी चाहिए। जो भी लोग यह सूचना नहीं देंगे तो अब प्रशासन उन्हें ट्रैक करेगा तो उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया जाएगा।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस