प्रयागराज, जेएनएन। आस्था, विश्वास और परंपरा का पर्व महाशिवरात्रि आज है। प्रयागराज समेत पड़ोसी जिलों प्रतापगढ़ और कौशांबी में भी भक्तों में उत्साह और उल्लास का संचार हो रहा है। सुबह से ही शिव मंदिरों में ऊं नम: शिवाय का जाप शुरू हो गया है। कहीं शिवलिंग का दूध, दही और गंगाजल से अभिषेक हो रहा है तो कहीं भांग, धतूरा, बेलपत्र व अन्य पूजन सामग्रियों के साथ ही माला-फूल अर्पित किया जा रहा है।  भक्त भगवान शिव का विधिवत पूजन-अर्चन कर मनोकामना कर रहे हैं। घरों में भी जलाभिषेक का आयोजन शुरू है। हर ओर बम-बम भोले के  उद्घोष से माहौल शिवमय हो गया है।

शिव-पार्वती के विवाह उत्‍सव

मान्यता है कि महाशिवरात्रि पर माता पार्वती और भगवान शिव के विवाह हुआ था। सभी सिद्ध और प्राचीन शिवालयों में आरती तथा अभिषेक के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। माता पार्वती और शिव के विवाहोत्सव की तैयारी भी है। श्री मनकामेश्वर समेत  दशाश्वमेध मंदिर दारागंज, शिवकोटेश्वर मंदिर शिवकुटी सहित अन्य शिवालयों में पूजन और अर्चन शुरू है। दोपहर तक मौसम साफ हो गया। इससे भक्‍तों की भीड़ और भी बढ़ गई है।

इन मंदिरों में भी भक्तों की भीड़ उमड़ी

इसी प्रकार गंगापार के पडि़ला महादेव मंदिर, नैनी के अरैल में सोमेश्वर महादेव और शहर में श्री मनकामेश्वर मंदिर में सुबह से शाम तक भक्तों का तांता लगता है। कटरा में पीला शिवाला, मनमोहन चौराहा पर स्थित शिव मंदिर, भरद्वाज आश्रम स्थित शिव मंदिर, नागवासुकि, मीरापुर स्थित मां ललितादेवी मंदिर परिसर में स्थित शिवलिंग, कल्याणी देवी, खुल्दाबाद में पत्थर का शिवाला, शिवकुटी में शिवकोटेश्वर सहित अन्य मंदिरों में भी पूजा व अभिषेक के लिए भक्तों की भीड़ जुटी है।

मनकामेश्‍वर मंदिर का पट दोपहर में डेढ़ घंटे के लिए बंद रहा

शहर स्थित श्री मनकामेश्वर मंदिर में सबसे अधिक श्रद्धालुओं के पहुंचने के आसार हैं। यहां के पुजारी श्रीधरानंद ब्रह्मचारी ने भोर में चार बजे मंगला आरती की। इसके बाद भक्तों को दर्शन के लिए मंदिर के द्वार खोले गए। दोपहर में 12 बजे भोलेनाथ को भोग लगेगा। इस दौरान करीब डेढ़ घंटे के लिए गर्भगृह बंद रखा गया। रात करीब 10 बजे चांदी के मुकुट से भगवान का श्रृंगार होगा इसके बाद कर्पूरी आरती होगी। जलाभिषेक, दुग्धाभिषेक, गन्ने के रस और दही से भक्त अभिषेक करेंगे। अभिषेक रात भर चलेगा। इसके लिए लोगों ने पहले से बुकिंग भी करा रखी है। मंदिर में श्रद्धालुओं को सुविधाजनक ढंग से दर्शन कराने के लिए पुलिस और बैरीकेडिंग के इंतजाम किए गए हैं।

प्रतापगढ़ के मंदिरों में उमड़ी आस्‍था

प्रतापगढ़ के शिव मंदिरों में आस्‍था की बयार बह रही है। बाबा घुइसरनाथ धाम में बाबा का प्रथम जलाभिषेक यदुवंशी परिवार ने किया। मान्‍यता है कि बाबा का इस परिवार ही महाशिवरात्रि पर प्रथम जलाभिषेक का आशीर्वाद प्राप्‍त है। इस प्रकार बाबा विश्वंभर नाथ धाम सदहा, बाबाबेलखर नाथ धाम समेत तमाम शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्‍त दर्शन, पूजन के साथ श्रद्धालु जलाभिषेक कर रहे हैं। बाबाबेलखर नाथ धाम में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालुओं की लाइन लगी है।

आज निकलेगी शिव बरात

महाशिवरात्रि के अवसर पर श्री मोतीलाल निषाद सेवा संस्थान की ओर से बाबा मनकामेश्वर की बरात निकाली जाएगी। इसकी शुरुआत चौखंडी कीडगंज से होगी। आयोजक ङ्क्षरकू निषाद ने बताया कि बरात गऊघाट, नई बस्ती पुलिस बूथ, मिंटो पार्क होते हुए मनकामेश्वर पहुंचेगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस