प्रयागराज, जेएनएन। शारदीय नवरात्र के समापन के बाद अब मां दुर्गा की विदाई की जा रही है। शहर और ग्रामीण अंचल में दुर्गा पूजा पंडालों के आयोजक मूर्तियों का पूजन कर नदी के किनारे बनाए गए कृतिम तालाब में उनको विसर्जित कर रहे हैं। भक्तों ने गाजे-बाजे के साथ मां की प्रतिमाओं को तालाब पर ले जाकर नम आंखों से विसर्जित किया। शाम तक प्रतिमाओं का विसर्जन होता रहा। इस दौरान पुलिस बल भी मुस्तैद रहा।

मऊआइमा में नम आंखों से मां भगवती को किया विदा

शारदीय नवरात्र में नौ दिन तक मां दुर्गा की मूर्ति को दुर्गा पंडाल में रखकर भक्तों ने सुबह-शाम धूपबत्ती करते हुए पूजा और आरती की। बाल कलाकारों ने रंग-मंच पर कला का प्रदर्शन किया। गांव के बुजुर्ग और महिलाएं भी कला देखकर मुग्ध होते रहे। नवरात्र समापन पर रविवार को मां दुर्गा की मूर्ति को गाजे-बाजे के साथ नम आंखों से मऊआइमा के जोगीपुर, हरखपुर व मदारी से गुजरी शारदा सहायक नहर में विसर्जित किया गया। l पिछले वर्ष विसर्जन के दौरान शारदा सहायक नहर चलती रही थी लेकिन इस वर्ष नहर में पानी ना आने से मूर्ति विसर्जन में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। मदारी स्थित शारदा सहायक नहर में अलावलपुर, बाजितपुर ,बहेरा, खमपुर, सिसवा, मदारी, राजा का पुरवा, बेलखरिया का पूरा, बालाडीह, महारौडा, सेमरा, बीरभानपुर, मदारी, गदियानी समेत दर्जनभर गांव की मूर्तियां विसर्जित की गईं। l

प्रतिमा विसर्जन में जुटे बच्चे और बुजुर्ग

भीरपुर क्षेत्र के लटकहां डीहा गंगा घाट व कटका महेवा रयपुरा ताला आदि टोंस नदी के घाटों पर मूर्तियों और प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। इस दौरान विभिन्न घाटों पर बच्चे, युवा और बुजुर्ग भी मौजूद रहे। लोगों ने विसर्जन के दौरान नदियों में स्नान भी किया।

कौशांबी में भी प्रतिमाओं का विसर्जन

 नवरात्र पर्व पर पूरे नौ दिन तक भक्तों ने मंदिरों व दुर्गा पंडालों में  मां भगवती का पूजन अर्चन किया। 51 शक्ति पीठ कड़ा वासिनी मां शीतला धाम में सुबह से भक्तों की भारी भीड़ रही। भक्तों के जयकारों से माहौल भक्तिमय रहा। दर्शन व पूजन कर भक्तों ने मां का आशीर्वाद प्राप्त किया। नवरात्र  में जिले के 851 स्थानों पर दुर्गा पंडाल सजा कर भक्तों ने पूरे नौ दिन तक पूजा की। रविवार को पूजन हवन कर भक्तों ने मां से आशीर्वाद प्राप्त कर विदाई दी। मां की विदाई के समय भक्तों ने लाल गुलाल उड़ाया और जयकारे भी लगाते रहे। नहर व तालाब में दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन किया गया। सुरक्षा व्यवस्था के लिए डीएम व एसपी समेत पुलिस टीम ने संवेदनशील स्थानों का भ्रमण किया। प्रमुख मंदिरों पर पुलिस तैनात रही। कस्बा भरवारी में स्थापित माँ दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन बड़ी कुटी गौरा में नाचते गाते भक्तों ने मां का जयकारे लगाते हुए किया। इस दौरान लोग अबीर गुलाल उड़ाते हुए चल रहे थे। भरवारी की सड़कों पर भक्तों की भीड़ चारों ओर दिखाई पड़ रही थी।

प्रतापगढ़ में जयकारों के साथ विदाई

शारदीय नवरात्र के समापन के बाद प्रतापगढ़ में भी सुबह से मां दुर्गा की विदाई की जाती रही। दुर्गा पूजा पंडालों के आयोजक मूर्तियों का पूजन कर नदी के किनारे कृतिम तालाब में विसर्जित कराते रहे। शहर क्षेत्र की मूर्तियां बेला देवी धाम के पास बनाए गए तालाब में विसर्जित की जा रही हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस