कौशांबी, जागरण संवाददाता। सिराथू तहसील क्षेत्र के मीठेपुर स्यारा में अमरूद संगोष्ठी व राज्य स्तरीय किसान मेला का शुभारंभ और कई परियोजनाओं का डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने शिलान्यास गुरुवार को किया। बारिश से प्रभावित कार्यक्रम में डिप्टी सीएम ने कहा कि कृषि उत्पादन को बढ़ाकर किसानों की आय को दोगुना करने के लिए सरकार प्रयासरत है। जिले के किसान तकनीकी खेती के बारे में जानकारी हासिल कर सकें। इसके लिए दो दिवसीय प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है। किसान मेले में यूपी के 50 जनपद से हजारों की संख्या में किसान पहुंचे हैं। 

इन योजनाओं से किसानों को मिलेगी उपज की सही कीमत

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि इजरायल के सहयोग से सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फ़ॉर फ़ूड का कौशांबी में आज शिलान्यास किया गया है। कोखराज में तैयार होने वाले सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फ़ॉर फ़ूड 6 करोड़ की लागत से बनेगा। यहां आलू, केला औऱ आम सहित अन्य उत्पादनों का प्रसंस्करण किया जाएगा। यह पहल किसानों की उपज की सही कीमत देने के लिए की गई है। इसके जरिए यूपी के लाखों किसानों को लाभ मिलेगा। लघु उद्योग में लगे कामगारों को पैकेजिंग की सुविधा मिलेगी। साथ ही पीएफएमआईई योजना के अंतर्गत 14 सेंटर की स्थापना की गई है। योजनाओं की जानकारी देने के लिए इन केंद्रों की स्थापना हो रही है।

ताकि किसान खुद नौकरी देने में हो जाएं सक्षम

इन योजनाओं से लाभान्वित होकर किसान भी किसी सरकारी नौकरी वाले की तरह कह सकेंगे कि हमें इतनी आमदनी हो रही है। खेती किसानी में भरपूर आमदनी होने पर नौकरी पहले नहीं तीसरी प्राथमिकत हो जाएगी। डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रयास किया जा रहा है कि इन योजनाओं के जरिेए किसान इतने सक्षम हो जाएं कि नौकरी खोजने की बजाय नौकरी देने की स्थित में पहुंच जाएं। किसान मेले के शुभारंभ के मौके पर कौशांबी के सांसद विनोद सोनकर तथा चायल विधायक संजय गुप्ता समेत भाजपा के पदाधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Ankur Tripathi