प्रयागराज, जेएनएन। यह मामला भी अजीब और रहस्यमय है। करछना इलाके के डीहा गांव के एक परिवार में बेटी की संदिग्ध हालात में मौत हो गई तो उसकी लाश पांच दिन तक छिपाए रखी। उसे झाड़ फूंक और तंत्र मंत्र से जिंदा करने का प्रयास होता रहा। मंगलवार शाम जब यह बात ग्रामीणों के जरिए पुलिस तक पहुंची तो एक्शन लिया गया।पुलिस फोर्स घर पहुंची तो परिवार ने अंदर आने से रोका और शव को उठाने में भी बाधा डाली। गांव के लोगों ने पुलिस को बताया कि यह परिवार अजीब हरकतें करता रहा है। कई महीने से वे मानसिक रोगियों जैसा व्यवहार करते दिखे हैं। परिवार में सबका झाड़ फूंक किया जाता रहा है। अब बेटी की मौत का रहस्य बना है। मौके पर कई अफसर पहुंचे और डाक्टरों की टीम बुलाकर परिवार का चेकअप कराया। फिर अस्पताल में भर्ती किया।

घरवालों से पूछ रही पुलिस कि आखिर क्या है माजरा

यह सब कुछ डीहा गांव के अभय राज यादव के परिवार में हो रहा है। गांव वालों का कहना है कि अभयराज की बेटी दीपिका की मौत तीन दिन पहले रहस्यमय स्थिति में हो चुकी थी लेकिन वे लाश को अंतिम संस्कार की खातिर नहीं ले गए बल्कि घर के भीतर ही रखकर तंत्र-मंत्र के सहारे उसे जीवित करने की कोशिश करते रहे। मंगलवार देर शाम पुलिस पहुंची और घरवालों से पूछताछ कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने का प्रयास शुरू किया। आखिरकार पुलिस किसी तरह शव को उठाकर ले जाने में कामयाबी रही। फिर परिवार के लोगों को भी समझा बुझाकर अस्पताल ले जाया गया क्योंकि उनकी मानसिक हालत बेहद खराब लग रही थी। पुलिस का कहना है कि अभी दीपिका की मौत का कारण साफ नहीं है। पोस्टमार्टम होने पर सच सामने आएगा।

Edited By: Ankur Tripathi