प्रयागराज,जेएनएन। पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ के क्रिकेट खिलाड़ी जिले का नाम पूरे देश में रोशन कर रहे हैं। कभी टीम इंडिया का हिस्सा रहे मनोज तिवारी भी इस जिले के रहने वाले हैं। जिस तरह सियासत में पंडित मुनीश्वरदत्त उपाध्याय, राजा दिनेश सिंह, प्रो.वासुदेव सिंह, राम किंकर एवं राजा अजीत प्रताप सिंह ने जिले की पहचान बनाई है, उसी तरह यहां के क्रिकेट खिलाड़ी भी समय-समय पर पूरे देश में जिले का नाम रोशन करते रहे हैं।

इन खिलाडि़यों ने जिले का बढ़ाया है मान
टीम इंडिया का हिस्सा रहे चुके मनोज तिवारी इसी जिले के पट्टी तहसील के सकरा गांव के रहने वाले हैं। इस समय स्टेडियम के क्रिकेट कोच आदित्य शुक्ला ने वर्ष 1997 से 2001 तक रणजी ट्राफी में त्रिपुरा की टीम से गेंदबाजी की थी। धनंजय सिंह वर्ष 1999 में त्रिपुरा और वर्ष 2000 में यूपी की टीम से रणजी ट्राफी खेल चुके हैं। कुमार गौरव, सुनील शुक्ला ने भी त्रिपुरा की टीम से रणजी ट्राफी खेला था। विशाल शु्क्ला अंडर 14 ट्राफी में यूपी टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। तनवीर अख्तर ने वर्ष 1995 में अंडर 19 की इंडिया की टीम से वेस्टइंडीज का दौरा किया था। देवेंद्र सिंह ने वर्ष 2001 में बंगलादेश में आयोजित अंडर 19 एशिया कप में टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व किया था।

यह हैं होनहार खिलाड़ी
इन होनहार खिलाड़ियों के बाद भी नई पौध तैयार होती रही है। स्टेडियम में बल्लेबाजी की हर विधा सीख रहे अष्टभुजा नगर के निवासी अभयराज गुप्ता पुत्र रामबचन गुप्ता ने अरुणाचल प्रदेश में क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में हिस्सा लिया और उनका चयन अंडर 23 कर्नल सीके नायडू ट्राफी (2018-2019) में अरुणाचल प्रदेश की टीम में हुआ। शहर से सटे कोहड़ा गांव के रहने वाले बल्लेबाज आकाश भट्ट पुत्र अवनीश भट्ट ने अंडर 23 कर्नल सीके नायडू ट्राफी (2018-19) में यूपी टीम का प्रतिनिधित्व किया। यह दोनों खिलाड़ी अभी भी रणजी खिलाड़ी रहे आदित्य शुक्ला से को¨चग ले रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस