प्रयागराज, जेएनएन। साहब गलती हो गई माफ कर दीजिए, अब दोबारा ऐसा नहीं होगा। बिना मास्क के घर से नहीं निकलूंगा। पुलिस को देखकर भागूगा भी नहीं। कुछ ऐसा ही नजारा शनिवार को घंटाघर के पास देखने को मिला। इंस्पेक्टर कोतवाली नरेंद्र कुमार बिना मास्क वालों की जांच कर रहे थे, तभी एक युवक तेजी से बाइक लेकर भागा, जिसे दूसरे छोर पर मौजूद पुलिसर्किमयों ने घेरकर पकड़ लिया। इसके बाद उसने हाथ जोड़कर माफी मांगी, लेकिन उसका एक हजार का चालान काट दिया गया। दोबारा पकड़े जाने पर दस हजार का चालान काटने के साथ ही मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने तक की चेतावनी दी गई।


एक हजार से सौ रुपये तक लगा जुर्माना

यहीं पर तीन और लोगों को भी बिना मास्क के पकड़कर एक हजार जुर्माना वसूला गया। हालांकि, कई लोगों से सौ रुपये ही जुर्माना वसूला गया। ये अधिक उम्र के थे और आर्थिक स्थिति ठीक न होने की दुहाई दे रहे थे। इसी प्रकार खुल्दाबाद इंस्पेक्टर वीरेंद्र यादव ने खुल्दाबाद सब्जी मंडी के पास जांच अभियान चलाकर तीन लोगों का एक हजार रुपये का जुर्माना वसूला। आठ ऐसे लोग थे, जिनके पास जुर्माना भरने की रकम नहीं थी। ऐसे लोगों का नाम, पता और मोबाइल नंबर दर्ज किया गया। चालान की रसीद देकर जुर्माना अदा करने को कहा गया। चेतावनी दी गई कि जुर्माना अदा न करने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। कीडगंज, जार्जटाउन, कर्नलगंज, शिवकुटी, दारागंज क्षेत्र में भी अभियान चलाकर बिना मास्क वालों का चालान काटा गया। हालांकि, अधिकांश लोगों से सौ रुपये ही लिए गए। दिनभर चले अभियान के दौरान 25 लोगों से एक हजार रुपये और 358 लोगों से सौ रुपये जुर्माना वसूला गया। जिन लोगों से सौ रुपये जुर्माना वसूला गया, उनको साफ चेतावनी दी गई कि दोबारा पकड़े जाने पर सीधे दस हजार का जुर्माना वसूला जाएगा।

  

लाउडस्पीकर से लोगों को करते रहे सचेत

सीओ प्रथम सत्येंद्र तिवारी पूरे दलबल के साथ चौक इलाके में पैदल ही निकल पड़े। लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को कोरोना संक्रमण से बचने के लिए जागरुक करते रहे। मास्क लगाने के साथ ही फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहते रहे। कई जगह भीड़ लगी देख उन्होंने लोगों को हटाया। ठेले दुकानदारों को चेतावनी दी कि अगर उनकी दुकान पर भीड़ नजर आई तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप