प्रयागराज, जेएनएन। हैदराबाद में महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या को लेकर कांग्रेस और शिव सेना क पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं में आक्रोश व्याप्त है। हत्या के विरोध में कांग्रेस और शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने संयुक्त रूप से सुभाष चौराहे पर केंद्र सरकार के खिलाफ काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया। इस दौरान सभी ने आरोपितों को फांसी की सजा देने की मांग की गई।

पीडि़त परिवार को 50 लाख का मुआवजा देने की मांग

इस दौरान हुई सभा में कांग्रेस के महानगर महासचिव हसीब अहमद ने पीडि़त परिवार को 50 लाख का मुआवजा देने की मांग की। शिवसेना महानगर अध्यक्ष मिलन साहू ने कहा कि देश में बेटियों पर हो रहे अपराध पर अंकुश लगाने में मोदी सरकार विफल साबित हो रही है। इस दौरान नफीस अनवर, प्रदीप चौरसिया, राधा देवी, अल्पना निषाद, शकील अहमद, विक्रम यादव, इश्तेयाक अहमद, रिंकू तिवारी, सत्या पांडेय, पंकज श्रीवास्तव, बृजेश पांडेय, सिब्बतैन बब्लू, धर्मेंद्र मिश्रा, चमन रावत, सुशील तिवारी, रोहित शर्मा, पंकज साहू, सिराज अहमद, संजीव रस्तोगी आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

कैंडल मार्च निकाल कर शोक संवेदना जताई

हैदराबाद की घटना के विरोध में विभिन्न संगठनों की ओर से भी विरोध-प्रदर्शन किया जा रहा है। इसी क्रम में शहर कांग्रेस कमेटी के महासचिव हसीब अहमद, नफीस अनवर, शिवसेना महानगर अध्यक्ष मिलन साहू, प्रदीप चौरसिया आदि ने मृत महिला को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद कातिलों को फांसी देने की मांग की। यशस्वी फाउंडेशन के अभिषेक श्रीवास्तव, इस्कफ के आनंद मालवीय ने घटना की निंदा की। आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष डॉक्टर अल्ताफ, ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन युवा इकाई के इफ्तेखार अहमद के अलावा महिला अधिकार संगठन की मंजू पाठक, जूही जायसवाल, संजय मिश्रा आदि ने खुशरोबाग से जानसेनगंज चौराहे तक कैंडल मार्च निकाला। उन्होंने सभी शिक्षण संस्थानों में मनोवैज्ञानिक कार्यशाला और आत्मरक्षा के प्रशिक्षण पर भी जोर दिया।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस