प्रयागराज, जेएनएन। अजब प्रेम की कहानी गजब कहानी अक्सर देखने सुनने को मिल रही है प्रयागराज में। हाल-फिलहाल के दो मामले देखिए जिसमें आत्महत्या के लिए साथ साथ कूदने की दो अलग घटनाओं में केस लिखा गया है। एक में प्रेमी के खिलाफ केस है तो दूसरी घटना में प्रेमिका के खिलाफ। पुलिस भी इन मामलों से चकराई है। दोनों एफआइआर की तहकीकात की जा रही है।

प्रेमिका को पुल से धकेलने वाले फरेबी पर लिखाया केस

पहली घटना पर गौर करें। करीब दस दिन पहले एक महिला ने यमुना पुल से छलांग लगा दी थी। किसी तरह वह खुद बचकर आ गई। फिर उसने आरोप लगाया कि प्रेमी भोलू यादव उर्फ चंदू भी उसके साथ पुल की रेलिंग पर आया था। बोला था कि साथ कूदकर जान दे देंगे लेकिन उसे धकेलने के बाद वह नहीं कूदा। महिला के बारे में पता चला कि वह विवाहित है, चंदू से दो साल बड़ी और महाराष्ट्र की रहने वाली। जबकि चंदू यहां झूंसी इलाके में रहकर दोना पत्तल बनाकर बेचता है। चंदू ने जीवन भर साथ निभाने का वायदा किया था लेकिन धोखेबाज निकला। महिला की शिकायत पर अब कीडगंज पुलिस चंदू के खिलाफ एफआइआर लिखकर तफ्तीश कर रही है।

प्रेमिका पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप

पिछले दिनों एक मामला सामने आया। तीन दिन से लापता रविंद्र कुमार कुशवाहा (25) का शव यमुना में मिला।। उसके घरवालों ने प्रेमिका के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाते हुए घूरपुर थाने में शिकायत की। रविंद्र कुशवाहा नैनी के चाका में पत्नी सावित्री के साथ रहता था। वह प्राइवेट काम कर परिवार का भरण पोषण करता था। बताया गया कि घटना से तीन दिन पहले वह घूरपुर के बुदावां में रहने वाले एक रिश्तेदार के घर आयोजित शादी समारोह में गया था। पत्नी भी साथ गई थी। इसी बीच रात को वह गायब हो गया। काफी खोजबीन के बाद भी कुछ नहीं पता चला तो परिवार के लोगों ने घूरपुर थाने में गुमशुदगी की शिकायत दी। फिर रविंद्र की लाश यमुना में सरस्वती घाट के करीब मिल गई।

कीडगंज पुलिस ने तलाशी ली तो पैंट की जेब में दो मोबाइल मिले। एएसपी चिराग जैन का कहना है कि रविंद्र का रिश्तेदार युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। शादी के दौरान उसकी पत्नी ने दोनों को एक साथ देख लिया था। फिर रविंद्र अपने प्रेमिका के साथ खुदकशी करने के लिए यमुना में पहुंच गया। दोनों पानी में घुस गए, लेकिन रविंद्र डूब गया और उसकी प्रेमिका बच गई। तहरीर के आधार पर मुकदमा कायम कर जांच की जा रही है।

Edited By: Ankur Tripathi