प्रयागराज, जेएनएन। कहते हैं न कि जाको राखे साइयां मार सके न कोय। जी हां यह कहावत आज भी चरितार्थ होती नजर आती है। फिलहाल मेजा को कोहडार स्थित टोंस पुल पर तो इसका उदाहरण भी देखने को मिला, जब सवारियों से भरी एक प्राइवेट बस पुल की रेलिंग तोड़ कर उसी में फंस गई। इससे बड़ा हादसा होते-होते टल गया। यही नहीं बस में सवार सभी यात्रियों को भी सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

मेजा के कोहडार स्थित टोंस नदी पुल पर हुई घटना

मेजा के कोहड़ार स्थित टोंस पुल पर एक प्राइवेट बस अनियंत्रित हो गई। बस रेलिंग तोड़ते हुए पुल पर अटक गई। बस में खचाखच भीड़ थी। शुक्र था कि बस नदी में नहीं गिरी और बस में सवार 50 से भी ज्यादा सवारियों को राहगीरों ने तत्काल सहायता कर किसी तरह से बाहर निकाला गया। इस दौरान बस सवार यात्रियों की सांसें अटकी रही। अपने को सकुशल पाकर उन्होंने ईश्वर बने लोगों को धन्यवाद दिया।

अनियंत्रित होने से बस में सवार यात्रियों की अटकी जान

एसपीएस कंपनी की एक टाटा बस सवारियों को लाद कर सोमवार को कोहड़ार बाजार से करछना तहसील की तरफ जा रही थी। अभी वह कोहड़ार स्थित टोंस नदी के पुल पर ही पहुंची थी कि अचानक अनियंत्रित हो गई। चालक का स्टेयङ्क्षरग से नियंत्रण हटने से बस डगमगाने लगी। बस पुल की रेलिंग तोड़ती हुई नदी में गिरने गिरने लगी। इसी दौरान बस  रेलिंग की फर्श से अटक गई। यह देख बस सवार लोग दहशत में आ गए। वहीं राहगीर भी अचंभित रहे। तत्काल राहगीरों ने दौड़कर बस में सवार लोगों को किसी तरह से नीचे उतारा गया। सभी सकुशल बाहर निकाल लिए गए। बस में सवार लोग यह नजारा देख दंग रह गये और सभी ईश्वर के प्रति आभार प्रगट करते दिखे।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस