प्रयागराज, जेएनएन। हिंदू धर्म हितैषी का दावा करने वाली भाजपा देश से संस्कृत को खत्म करने की कोशिश कर रही है। माडल स्कूलों को बढ़ावा देने के चक्कर में आधे से अधिक संस्कृत विद्यालय बंद करा दिए गए हैं। इससे संस्कृत शिक्षा कमजोर हो रही है, जिसका सीधे प्रभाव सनातन धर्म पर पड़ रहा है। यह बातें ओसा स्थित पार्टी कार्यालय में मंगलवार को आयोजित प्रबुद्धजन विचार संगोष्ठी में बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने कहीं।

बोले- श्रीराम मंदिर को लेकर भाजपा अपनी पीठ थपथपा रही है

बसपा के राष्‍ट्रीय महासचिव का कहना था कि पूरे प्रदेश में ब्राह्मण व दलित समाज के लोगों का उत्पीड़न हो रहा है। ब्राह्मण समाज के लोग चुन-चुनकर मारे जा रहा हैं। चित्रकूट में ब्राह्मण समाज के हत्यारोपित का खुलासा होने के बावजूद भी आरोपितों को पुलिस पकड़ नहीं रही है। अयोध्या में भगवान श्रीराम का मंदिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बन रहा है, लेकिन भाजपा अपनी पीठ थपथपा रही है।

एससी मिश्र ने कहा कि ब्राह्मण समाज के लोग खामाश हैं

बसपा नेता बोले कि 29 जून को खुशी दुबे की शादी हुई थी। उसको जेल में डाल दिया गया। साल भर बीतने के बाद भी जमानत नहीं मिली, यह अन्याय है। इसके बाद भी ब्राह्मण समाज के लोग खामोश हैं। बसपा महासचिव ने उपस्थित लोगों से यह भी कहा कि आप विष्णु व परशुराम के वंशज हैं आप प्रदेश के बारे में सोचें। सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय के बारे सोचें।

भाजपा के साथ सपा पर भी किया प्रहार

उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में 13 फीसद ब्राह्मण और 23 फीसद अनुसूचित वर्ग के लोग हैं। यदि यह एक हो जाएंगे तो वर्ष 2022 में बसपा की सरकार जरूर बनेगी। बसपा मुखिया ने ब्राह्मण समाज के लोगों को मंत्री के साथ दर्जनों पदों पर आसीन किया था। बसपा महासचिव ने केंद्र और प्रदेश सरकारों पर बेरोजगारों तथा कृषि कानून को लेकर दिल्ली में धरना-प्रदर्शन करने वाले किसानों की अनदेखी का भी आरोप लगाया। कहा कि सपा सरकार की तरह भाजपा में भी गुंडागर्दी व दहशतगर्दी कायम है। बसपा की सरकार बनने के बाद हर वर्ग के लोगों को न्याय मिलेगा।

Edited By: Brijesh Srivastava