इलाहाबाद : झलवा स्थित इलाहाबाद विकास प्राधिकरण (एडीए) के एक पार्क से भारतीय किसान यूनियन के संस्थापक चौ. महेंद्र सिंह टिकैत की प्रतिमा हटाए जाने पर संगठन ने कड़ी नाराजगी जताई है। इलाहाबाद, कौशांबी में यूनियन के बैनर तले प्रदर्शन भी हुआ। मुजफ्फरनगर में भी प्रदर्शन किया गया। नाराजगी देख इलाहाबाद विकास प्राधिकरण बैकफुट पर आ गया है, उसने प्रतिमा को फिर से उसी स्थल पर लगवाने का भरोसा दिया है।

इलाहाबाद में गुरुवार को भाकियू प्रतिनिधिमंडल ने डीएम से मुलाकात कर अपना आक्रोश जताया। इसके बाद डीएम सुहास एलवाई ने एडीए और पुलिस अफसरों से बातचीत की और प्रतिमा लगवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि चौधरी महेंद्र सिंह की प्रतिमा गलती से हटी है। किसानों को आश्वस्त कर दिया गया है। जल्द ही पार्क में नई प्रतिमा लगवा दी जाएगी।' कौशांबी में कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया। जिलाध्यक्ष बलवीर ¨सह की अगुवाई में जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा को सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया है कि 20 जून को चायल तहसील में स्थापित प्रतिमा एडीए ने हटवा दी है। तत्काल उसी स्थान पर प्रतिमा नहीं रखी गई तो किसान उग्र प्रदर्शन व चक्का जाम करेंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में शांताराम, विजय त्रिपाठी, इंदू तिवारी, राजेंद्र कुमार, संतलाल, देवराज, मान ¨सह, सूर्यभान ¨सह, छेदीलाल मुख्य थे। हमारे मुजफ्फरनगर कार्यालय के मुताबिक भाकियू कार्यकर्ताओं ने प्रकाश चौक स्थित कचहरी गेट पर धरना देने के साथ जाम लगा दिया। मौके पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट को चेतावनी दी कि यदि 24 घटे के भीतर उसी स्थान पर प्रतिमा स्थापित नहीं कराई गई तो भाकियू बस और रेल का चक्का जाम कर देगी। इससे पहले भाकियू जिलाध्यक्ष राजू अहलावत ने महावीर चौक स्थित जिला कार्यालय पर हुई बैठक में कहा कि किसान मसीहा का अपमान प्रदेश का किसान बर्दाश्त नहीं करेगा। अहलावत ने देर शाम जारी बयान में कहा है कि प्रतिमा पाच दिनों के भीतर पुन: स्थापित नहीं की गई तो भाकियू कार्यकर्ता भाजपा के होर्डिग फाड़ देंगे। उन्होंने कहा कि बाबा टिकैत बालियान खाप के चौधरी थे, अब देखना है कि सासद डॉ. संजीव बालियान इस दिशा में क्या करते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप