मनीष मिश्र, प्रयागराज : आयुष्मान भारत योजना गरीब परिवारों के लिए वरदान साबित हो रही है। एक साल में कुल 8782 लाभार्थियों का मुफ्त इलाज हुआ। इस योजना की बात आज इसलिए हो रही है क्योंकि पिछले वर्ष 23 सितंबर को ही प्रधानमंत्री ने स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़ी बड़ी योजना 'आयुष्मान भारतÓ को हरी झंडी दी थी।

स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में आयुष्मान योजना के तहत सबसे अधिक लाभार्थियों का इलाज किया गया। इस योजना में शामिल लाभार्थी का पांच लाख रुपये तक का इलाज मुफ्त होता है। जनपद में आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की संख्या 2.73 लाख है। बीते 365 दिनों की बात की जाए तो 8782 लाभार्थी या उनके परिवार के सदस्यों का मुफ्त इलाज किया जा चुका है। आयुष्मान भारत योजना के नोडल अधिकारी डॉ. राहुल सिंह ने बताया कि अभी तक योजना के तहत 8782 लाभार्थी मरीजों का मुफ्त इलाज हुआ है। अधिक से अधिक लाभार्थियों को इसका लाभ मिल सके यह प्रयास किया जा रहा है।

आज मनाया जा रहा आयुष्मान भारत दिवस:

सोमवार को आयुष्मान भारत योजना की पहली वर्षगांठ मनाई जा रही है। इसके लिए शासन से भी आदेश है कि संबंधित अस्पतालों में आयुष्मान भारत दिवस मनाया जाए।

क्या कहते हैं आंकड़े:

आयुष्मान भारत के कुल लाभार्थी : 273574

शहरी क्षेत्र में लाभार्थी की संख्या : 43925

ग्रामीण क्षेत्रों में लाभार्थी : 229649

योजना से संबद्ध अस्पताल : 164

कुल गोल्डेन कार्ड बनाए गए : 125382

लाभार्थी जिनका हुआ इलाज : 8782

सभी के इलाज में खर्च हुए : चार करोड़ रुपये

इलाज न करने पर ब्लैकलिस्ट हुए : 17 निजी अस्पताल

30 सितंबर तक विशेष अभियान:

आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थियों का गोल्डेन कार्ड बनाने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। तीन सितंबर से चल रहा यह अभियान 30 सितंबर तक चलेगा।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप