प्रयागराज, जेएनएन। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि कहते हैं कि देश में आज श्रीराम के राज्याभिषेक जैसा माहौल है। इसके पीछे श्रीराम मंदिर को लेकर केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियां व सराहनीय कार्य हैं। उन्होंने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भूमि पूजन किया जाना शुभ है, क्योंकि योगी भगवाधारी संत हैं और मोदी कर्म से संत।

मंदिर भव्य होगा, उस पर किसी को संदेह नहीं है

दैनिक जागरण से अनौपचारिक चर्चा में अखाड़ा परिषद के अध्‍यक्ष ने कहा कि श्रीराम मंदिर आंदोलन को योगी आदित्यनाथ के गुरु महंत अवैद्यनाथ, अशोक सिंहल ने ऊंचाइयां प्रदान की थी। योगी भी गुरु के सानिध्य में श्रीराम मंदिर के लिए संघर्षरत थे। इसलिए मंदिर भव्य होगा, उस पर किसी को संदेह नहीं है।

बोले, श्रीराम के काम में मुहूर्त नहीं देखा जाता

भूमि पूजन के मुहूर्त को लेकर विवाद पर महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि श्रीराम के काम में मुहूर्त नहीं देखा जाता। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने संतों व श्रद्धालुओं से मानसिक रूप से भूमि पूजन में उपस्थित होने की अपील की है।

भूमि पूजन में होंगे शामिल

महंत नरेंद्र गिरि ने बताया कि विहिप के वरिष्ठ नेता दिनेश जी ने उन्हें दूरभाष पर भूमि पूजन में आने का आमंत्रण दिया था। उम्मीद है कि आमंत्रण पत्र भी जल्द मिल जाएगा। वह भी भूमि पूजन में शामिल होंगे।

दिन भर चलेगा रामनाम जप

अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने बताया कि भूमि पूजन के दिन बांध स्थित बड़े हनुमान मंदिर में दिन भर श्रीराम नाम का जप चलेगा। शाम को सामूहिक सुंदरकांड का पाठ करके हवन किया जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021