प्रयागराज, [अमरीश मनीष शुक्ल]। एयरपोर्ट पर भी मेट्रो स्टेशन की तरह स्वचलित फ्लैप गेट लगेंगे। यात्रियों को इन्ही गेट से अंदर और बाहर जाना होगा। इसमें लगा स्कैनर बोर्डिंग पास को स्कैन करेगा। बोर्डिंग पास वैलिड होने पर गेट खुल जाएगा और यात्री आगे जा सकेंगे। एयरपोर्ट के विस्तार के समय ही फ्लैप गेट लगेंगे। यहां भी महाकुंभ से पहले फ्लैप गेट लग जाएंगे। अभी जिन एयरपोर्ट पर अंतरराष्ट्रीय उड़ानें हैं और विदेशी पर्यटकों का आना जाना है, वहां इसे लगाया जा चुका है।

प्रयागराज में आगामी कुंभ मेला की तैयारी

प्रयागराज में पिछले कुंभ की भव्यता को देखते हुए इस बार महाकुंभ में विदेशी सैलानियों की संख्या में बढ़ोतरी तय है। ऐसे में एयरपोर्ट पर अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप सुविधाएं भी होंगी। उसी क्रम में स्वचलित फ्लैप गेट भी लगेंगे। यात्री अपना बोर्डिंग पास दरवाजे के आगे के हिस्से में बने स्कैनर स्थल पर रखेंगे। स्कैन होते ही गेट खुल जाएगा।

एयरपोर्ट डायरेक्‍टर ने कहा- प्राथमिकता पर होगी व्‍यवस्‍था

प्रयागराज एयरपोर्ट के डायरेक्टर अंचल प्रकाश ने बताया कि जिन स्थानों पर विदेशी पर्यटक अधिक आ रहे हैं, जहां भीड़ और इनकम अधिक हैं, वहां प्राथमिकता के तौर पर स्वचलित फ्लैप गेट लगेंगे। इसके लिए उच्च स्तर पर ही फैसला और क्रियान्वयन होगा।

कैसे करेगा काम फ्लैप गेट

फ्लैप गेट पर स्टेनेलस स्टील का कवर होगा। यह एक तरफ अथवा दोनों तरफ खुलेगा और स्कैनर भी दोनों तरफ होगा। बोर्डिंग पास को ही यह स्कैन करेगा। एयरपोर्ट अथारिटी इसे अपनी व्यवस्था के अनुरूप संचालित करेगी। इससे एक मिनट में 25 से अधिक यात्री गुजर सकेंगे। गेट खुलने के बाद तीन सेकेंड के अंदर बोर्डिंग पास धारक को प्रवेश करना होगा। अगर इस बीच यात्री प्रवेश नहीं करता तो दस पल बाद यह स्वचलित रिसेट हो जाएगा।

Edited By: Brijesh Srivastava