प्रयागराज,जेएनएन। मोरारी बापू से मुख्य पंडाल में श्रीराम कथा सुनने वाले श्रोताओं पर स्प्रिंकलर सेट से मिस्ट यानी पानी की हल्की बौछारें की जाएंगी। टाइमर के जरिए मिस्ट गिरेगी जिससे श्रोताओं को गर्मी न महसूस हो। पंडाल में बैठने की बेहतर व्यवस्था की जा रही है।

सड़क मार्ग और जल मार्ग से आने वालों के लिए अलग-अलग रास्ते हैं। मुख्य पंडाल में मंच से दूर बैठने वाले श्रोताओं के लिए एलईडी स्क्रीन लगाई जाएंगी। आयोजन स्थल पर फायर ब्रिगेड की दमकलों को भी हर समय उपलब्ध रखा जाएगा। संत कृपा सनातन संस्थान राजस्थान के मीडिया प्रभारी नितिन ने बताया कि बुजुर्ग श्रोताओं को मुख्य पंडाल तक लाने के लिए अलग से इंतजाम किए जा रहे हैं।

यह होगा कथा का समय

29 फरवरी को शाम चार से सात बजे तक।

एक से आठ मार्च तक सुबह 9.30 से दोपहर 1.30 बजे तक।

आइजी केपी सिंह ने जांची सुरक्षा व्यवस्था

पुलिस महानिरीक्षक प्रयागराज कवींद्र प्रताप सिंह ने मंगलवार को कथा स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने रास्ते, अतिथियों के कॉटेज, हाउस बोट कैलास के आसपास और सीसीटीवी के बारे में जानकारी लेकर सुरक्षा इंतजाम परखे। इस अवसर पर खाक चौक व्यवस्था समिति के प्रधानमंत्री संतोष दास 'सतुआ बाबाÓ भी मौजूद रहे।

खास बातें

01 लाख स्क्वायर फीट में बनाया जा रहा है पंडाल

11 लाख स्क्वायर फीट अरैल में हो रहा पूरा आयोजन

28 फरवरी से पहले मंच का निर्माण करने का निर्देश

70 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई पंडाल में

10-15 सेकेंड पर टाइमर के जरिए गिरेगी मिस्ट

132 सीलिंग फैन की व्यवस्था की गई पंडाल में

200 से अधिक एलईडी लाइट से होगी रोशन

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस