प्रयागराज, जेएनएन। शराब और बीयर की दुकानें, मॉडल शॉप तथा भांग की फुटकर बिक्री का 2019-20 में लाइसेंस देने के लिए पहले चरण की ई-लॉटरी 23 को होगी। इसमें आवेदकों को शामिल करने के लिए उनके आवेदनों का परीक्षण कर एनआइसी में डाटा लॉक किए जा रहे हैं। मंगलवार रात तक यह प्रक्रिया पूरी करने के बाद अगले दिन पहले चरण की ई-लॉटरी के लिए आवेदकों के नाम फाइनल हो जाएंगे। गलत भरे गए आवेदन परीक्षण में अमान्य होने पर निरस्त कर दिए जाएंगे इससे पहले चरण की ई-लॉटरी में कुल दुकानों के सापेक्ष आवेदकों की संख्या घटने के आसार हैं।

आबकारी विभाग की ओर से नए वित्तीय साल में देशी व अंग्रेजी शराब और बीयर की कुल 8352 दुकानों के ही लाइसेंस नए सिरे से जारी होने हैं, क्योंकि 17 हजार दुकानें नवीनीकरण की श्रेणी में आ चुकी हैं। 8352 दुकानों के सापेक्ष विभाग को 5046 आवेदन निर्धारित तारीख तक मिले। यह आवेदन दुकानों के अनुसार काफी कम हैं जबकि आवेदनों के सही होने या न होने और बैंक में जमा शुल्क आबकारी विभाग के खाते में पहुंचने का मंगलवार देर रात तक परीक्षण किया गया। जितने आवेदन सही पाए जाएंगे और उनके शुल्क भी जमा होंगे उन्हीं को ई-लॉटरी में शामिल करने के लिए एनआइसी ने डाटा लॉक किया है। गलत भरे हुए आवेदन निरस्त कर दिए जाएंगे। संयुक्त आबकारी आयुक्त टॉस्क फोर्स हरीशचंद्र ने बताया कि आवेदनों के परीक्षण और एनआइसी की ओर से डाटा लॉक करने की प्रक्रिया के बाद बुधवार को पहले चरण के लिए कुल आवेदनों की संख्या तय हो पाएगी। 

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस