प्रयागराज, जेएनएन। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण काल में अव्‍यवस्‍था का भी आलम जगह-जगह दिख जाता है। कोविड काल में लोगों की मजबूरी का फायदा उठाने से भी कुछ लोग बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे लोगों को मरीजों के परिवार के लोगों का दर्द समझ में नहीं आता, या वह जानबूझकर इससे अनजान बने रहते हैं। उन्‍हें तो बस धन उगाही से ही मतलब है। इसका प्रयागराज में भी नमूना दिख रहा है। फिर भी इन पर अंकुश नहीं लगाए जाने से आम जनता प्रभावित है।

एंबुलेंस सेवा के संचालकों की मनमारी, वसूल रहे रुपये

मनमानी वसूली करने वालों में एंबुलेंस सेवा के संचालक भी हैं। वह मरीजों के परिवार वालों से मनमानी वसूली कर रहे हैं। इनकी मनमानी पर अंकुश भी नहीं हैं। यहां हम आपके समक्ष उदाहरण पेश कर रहे हैं, जिससे यह पता चल सकेगा कि प्रयागराज में एंबुलेंस वालों की हरकत क्‍या है।

प्रयागराज से दिल्‍ली जाने का जानिए क्‍या है एंबुलेंस वालों का रेट

एंबुलेंस वालों की मनमानी की पड़ताल की गई तो हैरानी हुई। कोरोना पीडि़त मरीज को दिल्ली ले जाने के लिए एंबुलेंस नंबर पर फोन किया गया। उसने मरीज को स्वरूपरानी नेहरु अस्पताल से दिल्ली ले जाने के लिए 90 हजार रुपये मांगे। बताया कि एसी एंबुलेंस रहेगी और साथ में एक डाक्टर भी। वह मरीज को 11 घंटे में पहुंचा देेंगे। बोला, सभी एंबुलेंस वाले यही रेट लेंगे, किसी से भी बात कर लें। जब ले जाना हो तो बताना। यह तो मरीज को दिल्ली ले जाने का हाल है।

एंबुलेंस का दिल्‍ली जाने का रेट पिछले साल से दोगुना हुआ

पिछले साल कोरोना के दौरान दिल्ली तक मरीज ले जाने का रेट 40 से 45 हजार रुपये थे। साल भर में इन लोगों ने रेट दोगुना कर दिया है। दिल्ली ही नहीं, शहर में भी कुछ दूरी तक मरीजों को ले जाने के लिए भारी वसूली की जा रही है। एंबुलेंस वालों की मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए शुक्रवार को लखनऊ के डीएम ने रेट निर्धारित कर दिया है। हालांकि प्रयागराज में अभी ऐसा नहीं है। यहां पर तो एसआरएन में कोरोना से मौत के बाद शव को अंत्येष्टि के लिए फाफामऊ घाट तक ले जाने के लिए डेढ़ से दो हजार रुपये तय है।

प्रयागराज के जिलाधिकारी बोले- एंबुलेंस वालों की मनमानी पर लगेगा लगाम

जिलाधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी कहते हैं कि एंबुलेंस वालों की मनमानी पर लगाम लगाया जाएगा। इस मुसीबत की घड़ी में लोगों को मजबूरी का फायदा उठाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। जल्द ही लखनऊ की तरह यहां पर एंबुलेंस का किराया निर्धारित कर दिया जाएगा।