प्रयागराज, जेएनएन। फिल्म अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा का कार्यक्रम न कराना एक संस्था को भारी पड़ गया है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने आयोजन कराने का जिम्मा लेने वाली संस्था के मालिक अभिषेक सिन्हा की गिरफ्तारी पर रोक लगाने वाली याचिका खारिज कर दी है।

यह आदेश न्यायमूर्ति प्रीतिंकर दिवाकर व न्यायमूर्ति राजवीर सिंह की खंडपीठ ने अभिषेक सिन्हा की याचिका पर दिया है। वादी प्रमोद शर्मा ने मुरादाबाद जिला के कटघर थाना में 22 फरवरी, 2019 को अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा, अभिषेक सिन्हा, मालविका पंजाबी आदि के विरुद्ध धारा 34, 120बी, 406, 420 के तहत एफआइआर दर्ज कराई थी। उन्होंने आरोप लगाया कि 37 लाख रुपये का भुगतान लेने के बाद भी आरोपित निर्धारित कार्यक्रम में उपस्थित नहीं हुए, जिससे वादी को आर्थिक क्षति उठानी पड़ी।

अपर शासकीय अधिवक्ता प्रथम आशुतोष कुमार संड ने अदालत को बताया कि याची लगभग छह माह बाद अदालत का दरवाजा खटखटाया है, जबकि उसके विरुद्ध विवेचना में पर्याप्त साक्ष्य हैं। इस मामले में हाई कोर्ट ने पूर्व में ही सोनाक्षी की गिरफ्तारी पर रोक पुलिस रिपोर्ट दाखिल होने तक के लिए लगाया है।

धोखाधड़ी के केस में बयान दर्ज कराने मुरादाबाद पहुंची थीं सोनाक्षी सिन्हा

अंतिम समय पर कार्यक्रम रद करने के मामले में चल रहे धोखाधड़ी के मुकदमे में बयान दर्ज कराने के लिए फिल्म अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा बुधवार को मुरादाबाद पहुंचीं थीं। यहां वह होटल क्लार्क इन में रुकीं और वहीं जांच अधिकारी ने उनके बयान दर्ज किए। होटल में गुपचुप तरीके से बयान दर्ज कराने के बाद वह दिल्ली लौट गईं।

परफार्म करने से किया था इन्कार

प्रमोद शर्मा इंडिया फैशन एंड ब्यूटी अवार्ड नाम से इवेंट कंपनी चलाते हैं। दिल्ली के सीरी फोर्ट आडिटोरियम में एक इवेंट के लिए उन्होंने सोनाक्षी सिन्हा के मैनेजर के माध्यम से अनुबंध किया। कार्यक्रम से ठीक पहले ही सोनाक्षी ने परफार्म करने से इन्कार कर दिया, जबकि कार्यक्रम के लिए 37 लाख रुपये का भुगतान किया जा चुका था। भुगतान आनलाइन पांच बार में अलग-अलग खातों में किया था।

रिपोर्ट दर्ज नहीं होने पर किया था आत्महत्या का प्रयास

कार्यक्रम रद होने के बाद आयोजकों ने प्रमोद शर्मा से रुपये वापस करने के लिए दबाव बनाया। प्रमोद शर्मा ने सोनाक्षी सिन्हा से प्रबंधक के माध्यम से रुपये वापस मांगे, लेकिन उन्होंने इन्कार कर दिया। इसके बाद प्रमोद शर्मा ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई तो उन्होंने खुदकशी का प्रयास किया।

दर्ज हुआ धोखाधड़ी का मुकदमा 

इसके बाद एसएसपी के आदेश पर सोनाक्षी सिन्हा के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज हुआ। पुलिस टीम उनके बयान दर्ज करने के लिए मुंबई गई, लेकिन उनके मुलाकात नहीं होने पर टीम वापस आ गई। इसके बाद उन्हें मुरादाबाद तलब किया था।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप