प्रयागराज,जेएनएन । बालू के अवैध खनन और फर्जी रवन्ना पर गिट्टी के परिवहन मामले में छह अधिकारियों तथा तीन कर्मचारियों पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है। इन अफसरों व कर्मियों के खिलाफ जांच टीम ने अपनी रिपोर्ट भेज दी है। जल्द ही शासन स्तर पर कार्रवाई होगी। वैसे अब तक इस मामले में पांच अफसरों पर गाज गिर चुकी है और एक कर्मचारी निलंबित हो चुका है।

छह अधिकारियों और तीन कर्मचारियों के खिलाफ भेजी रिपोर्ट

भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशक डा. रोशन जैकब को प्रयागराज में गंगा, यमुना, टोंस व बेलन नदियों में बालू के अवैध खनन तथा मेजा से फर्जी रवन्ना पर गिट्टी के अवैध परिवहन की शिकायत मिली थी। जिसकी प्रथम दृष्टया जांच कराई गई और उसके बाद मंडलीय अधिकारी विजय कुमार मौर्य और खनन निरीक्षक आशीष द्विवेदी को सात जनवरी को हटा दिया गया था। इसके बाद भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशक ने इस मामले में जांच शुरू करा दी थी। ज्येष्ठ खान अधिकारी अमित कौशिक, खान अधिकारी शैलेंद्र सिंह, प्राविधिक सहायक अशद अंसारी व वरिष्ठ मानचित्रकार चंद्रलोक कुशवाहा की चार सदस्यीय जांच दल ने यहां पर एक हफ्ते तक छानबीन की। जांच टीम ने खनन, पुलिस व प्रशासन के छह अधिकारियों तथा खान विभाग के दो कर्मचारियों की बालू के अवैध खनन तथा फर्जी रवन्ना पर गिट्टी के परिवहन की संलिप्तता की रिपोर्ट प्रेषित की है। इसके अलावा दो अधिकारियों पर पर्यवेक्षण में शिथिलता की भी रिपोर्ट दी गई है। माना जा रहा है कि इस रिपोर्ट पर जल्द ही बड़ी कार्रवाई हो सकती है। जांच रिपोर्ट से खनन विभाग व पुलिस अफसरों में खलबली मची है।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस