प्रयागराज, जेएनएन। सहायक अभियोजन अधिकारी प्रारंभिक परीक्षा 2018 (APO pre exam 2018) बिना किसी व्यवधान के रविवार को संपन्न हो गई। उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग (UPPSC) ने लखनऊ और प्रयागराज के 95 केंद्रों में परीक्षा का आयोजन किया था। दोनों शहरों में 41.46 प्रतिशत अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। परीक्षा के लिए 45311 अभ्यर्थियों का पंजीकरण था, लेकिन इम्तिहान में 18784 अभ्यर्थी शामिल हुए।

आयोग ने 2018 में एपीओ के 17 पदों की भर्ती का विज्ञापन निकाला था, लेकिन प्री परीक्षा अब जाकर हो सकी। रविवार को लखनऊ में 58 व प्रयागराज में 37 परीक्षा केंद्रों में सुबह 9.30 से 11.30 बजे तक प्री परीक्षा कराई गई। परीक्षा को नकलमुक्त बनाने के लिए आयोग ने व्यापक तैयारियां की थीं। सीसीटीवी कैमरों से निगरानी करने के साथ सुरक्षा का पुख्ता प्रबंध किया गया था। आयोग के सचिव जगदीश के अनुसार एपीओ प्री परीक्षा शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षा पूर्ण हुई है।

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग अपनी प्रमुख भर्ती  परीक्षाओं के प्रश्नपत्रों में लगातार परिवर्तन कर रहा है। बदलाव की झलक रविवार को हुई एपीओ (सहायक अभियोजन अधिकारी) प्रारंभिक परीक्षा 2018 में देखने को मिली। पीसीएस की तर्ज पर इसमें भी प्रश्न पूछने का पैटर्न पूरी तरह बदला गया। अधिकतर सवाल किताबी होने के बजाय सामान्य ज्ञान और समसामायिक विषयों पर आधारित थे।

एपीओ 2018 की प्री परीक्षा में 150 वैकल्पिक प्रश्न पूछे गए। इसमें सौ विधि से जुड़े थे, जबकि 50 प्रश्न सामान्य अध्ययन से आए। इसमें  मिशन इंद्रधनुष 2.0 का कार्यकाल क्या है? स्वच्छ और हरित ईंधन क्या है? भारतीय वायुसेना ने अपने किस लड़ाकू विमान को 27 दिसंबर 2019 को सेवामुक्त करने की घोषणा की? किस फुटबाल खिलाड़ी को दो सितंबर 2019 को छठीं बार 'बैलोन डिओर अवार्ड' प्राप्त करने के समय विश्व का सर्वश्रेष्ठ फुटबाल खिलाड़ी माना गया? मिस यूनिवर्स 2019 जोजिबिनी टुंजी किस देश की हैं? उत्तर प्रदेश में पंचायतों की आय के स्रोतों का कौन सा अपवाद है? सत्र न्यायालय की स्थापना किसके द्वारा की जाती है? जैसे अनेक प्रश्न पूछे गए।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस