प्रयागराज, जागरण संवाददाता। कोरोना की दूसरी लहर शांत होने के बाद स्कूल और कालेज फिर खुल गए हैं। बाजार से लेकर सड़कों पर चहल-पहल बढ़ी है। छात्राओं, युवतियां और महिलाओं की आवाजाही भी घर से बाहर तेज हो गई है। एक बार फिर छात्राओं और युवतियों को शोहदों का सामना करना पड़ रहा है। छेड़खानी की घटनाएं भी बढ़ी हैं। ऐसे में उन्हें शोहदों से बचाने के लिए जिम्मेदार मानी जानी वाली एंटी रोमियो स्क्वायड कहां, इसका पता नहीं चल रहा है।

एंटी रोमियो स्‍क्‍वायड की टीम निष्क्रिय

जार्जटाउन थाना क्षेत्र में सरेराह एक प्रतियोगी छात्रा से न केवल छेडख़ानी की गई, बल्कि उसका हाथ भी पकड़ा गया। ऐसा तब है, जब मिशन शक्ति के तहत महिला हिंसा को लेकर पुलिस काफी गंभीर होने का दावा कर रही है। हकीकत यही है कि एंटी रोमियो स्क्वायड की टीम निष्क्रिय है। सार्वजनिक स्थान, पार्क, स्कूल, कालेज और कोचिंग संस्थानों के आसपास इस टीम के पुलिसर्किमयों की तैनाती होनी चाहिए, लेकिन दिखाई कहीं नहीं देते हैं। इतना हीं नहीं, चिह्नित स्थानों पर भी पुलिसकर्मी दूर-दूर तक नजर नहीं आते हैं।

छात्रा से छेड़खानी की घटना

जार्जटाउन में एक छात्रा घर से सब्जी खरीदने के लिए बाहर गई थी। तभी नेता नगर अल्लापुर चौराहे के पास शिवम और उसके साथियों ने रास्ता रोक लिया। मनबढ़ आरोपितों ने उसका हाथ भी पकड़ा और अश्लील हरकत की। विरोध करने पर धमकी दी। जब उसने शोर मचाया तो आसपास मौजूद लोग आ गए, जिसके बाद सभी वहां से भाग गए। छात्रा का यह भी आरोप है कि उसे करीब एक महीने से परेशान किया जा रहा था। वह जब भी कहीं आती-जाती तो रास्ते में शिवम व उसके साथी अश्लील इशारे करते और फब्तियां कसते थे। इससे पहले भी उसने रास्ते में रोककर अश्लील हरकत करने का प्रयास किया था। वह इतना डर गई थी कि थाने पर शिकायत नहीं कर पा रही थी। हालांकि इंस्पेक्टर जार्जटाउन महेश प्रसाद का कहना है कि सभी की तलाश चल रही है और जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Brijesh Srivastava