प्रयागराज, जेएनएन। बेसिक शिक्षा परिषद की 69 हजार शिक्षकों की भर्ती का मामला अब भी असंतोष का सबब बना है। प्रयागराज जनपद में 888 शिक्षकों का चयन हुआ था। इनमें अब भी 108 शिक्षकों को पहला वेतन नहीं मिल पाया है। शासन ने निर्देशित किया है कि शैक्षिक प्रमाणपत्रों के सत्यापन का इंतजार नहीं किया जाए। प्रत्येक अभ्यर्थी से हलफनामा लेकर वेतन जारी कर दें।

बीएसए बोले- हलफनामा लेकर शिक्षकों का वेतन जारी होगा

बीएसए संजय कुशवाहा ने बताया कि जिले में 888 शिक्षक नियुक्त हुए थे। पहले सभी अध्यापकों के शैक्षिक प्रमाणपत्र सत्यापन के लिए संबंधित बोर्ड और विश्वविद्यालय को भेजे गए। लॉकडाउन व अन्य वजहों से भौतिक सत्यापन की प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी। इसे देखते हुए शासन स्तर से निर्देश दिया गया कि सभी अध्यापकों से लिखित रूप से हलफनामा लिया जाए और वेतन निर्गत कर दें। यह प्रक्रिया पूरी कराई जा रही है। अभी 108 शिक्षकों की प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। एक दो दिन में सभी से हलफनामा लेकर वेतन जारी कर दिया जाएगा।

शिक्षकों को यह देना होगा हलफनामा

सभी शिक्षकों को लिखित रूप से देना होगा कि यदि भविष्य में उनके द्वारा प्रस्तुत शैक्षिक, प्रशिक्षण, अन्य अभिलेख उपाधि का सत्यापन गलत पाया जाता है तो उसकी सेवा समाप्त की जाए। इसके साथ ही उनके विरुद्ध षडयंत्रपूर्ण सेवा प्राप्त करने के कारण विधिक कार्यवाही की जाएगी। वेतन के रूप में भुगतान की गई धनराशि की रिकवरी राजस्व की भांति की जाएगी। इस हलफनामा देने के बाद वेतन भुगतान हो जाएगा। इसके बाद भी शैक्षिक प्रमाणपत्रों का भौतिक सत्यापन जरूर किया जाएगा।