मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

प्रयागराज, [गुरुदीप त्रिपाठी]। भारतीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपलआइटी) के भावी टेक्नोक्रेट्स अब संस्थान से एनसीसी की ट्रेनिंग भी कर सकेंगे। इसके लिए संस्थान में इसी शैक्षणिक सत्र से इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ ही एनसीसी की ट्रेनिंग भी दी जाएगी। इसके लिए अलग से एनसीसी की कक्षाएं चलाए जाने का निर्णय लिया गया है। संस्थान में एनसीसी की ट्रेनिंग को पिछले दो वर्षो से प्रयास किया जा रहा था।

सेना के अधिकारियों ने दी मंजूरी
आखिकार चैथम लाइंस स्थित एनसीसी के मुख्यालय में सेना के अधिकारियों ने संस्थान में एनसीसी शुरू किए जाने के प्रस्ताव को अगस्त के पहले सप्ताह में मंजूरी दे दी है। ऐसे में अब विश्वविद्यालय और कालेजों की तर्ज पर ट्रिपलआइटी में छात्र-छात्राओं को एनसीसी की ट्रेनिंग के माध्यम से जीवन को अनुशासन में रखना सिखाया जाएगा। साथ ही एक जिम्मेदार नागरिक बनाने और देश सेवा की ट्रेनिंग दी जाएगी।

छात्र-छात्राओं को ट्रेनिंग करने का मौका मिलेगा
एनसीसी का ऑफिस स्टूडेंट्स फैकेल्टी सेंटर के बगल में खुलेगा। इसका उद्घाटन भी जल्द किया जाएगा। इसके लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। पहले चरण में मैकेनिकल व इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग सहित अन्य ब्रांच में बीटेक कोर्स करने वाले छात्र-छात्राओं को ट्रेनिंग करने का मौका दिया जाएगा। उन्हें सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। इसके लिए बीटेक प्रथम वर्ष से लेकर अंतिम वर्ष तक के छात्र-छात्राएं आवेदन कर सकते हैं।

ट्रिपल आइटी के पीआरओ बोले
भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान के पीआरओ पंकज मिश्र कहते हैं कि संस्थान में काफी समय से एनसीसी की ट्रेनिंग देने का प्रयास किया जा रहा था। एनसीसी मुख्यालय से अब मान्यता मिल गई है। यह सुविधा बीटेक कोर्स करने वाले छात्र-छात्राओं को मिलेगी। इससे इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ ही अनुशासन व देशप्रेम की भावना जागेगी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप