प्रयागराज, जेएनएन। संक्रमितों की जान पर आफत बने कोरोना ने बुधवार को 10 और लोगों को निगल लिया। हालांकि बीते एक-दो दिनों की अपेक्षा मौत की रफ्तार कुछ धीमी रही। जबकि नए संक्रमितों के मिलने की संख्या 2000 से कम नहीं हो रही है। कोविड जांच के विभिन्न माध्यमों से 2137 नए संक्रमित मिले। कोरोना इस बार शिक्षकों पर गाज की तरह गिर रहा है। बीते 24 घंटों में दो शिक्षकों की मौत हुई। 

पंचायत चुनाव ड्यूटी से लौटे शिक्षकों की संक्रमण से लगातार जा रही जान

कौंधियारा विकासखंड की अध्यापक गजाला खातून की मौत संक्रमण के चलते मंगलवार की रात में हो गई। वह पंचायत चुनाव ड्यूटी से लौटने के बाद से ही बीमार हो गई थीं। इसी विकासखंड की उच्च प्राथमिक विद्यालय बिसुनुवा की नाजमा फारूख भी कोरोना से जंग हार गईं। शिक्षकों ने गहरा शोक जताया है।

डाक विभाग के कर्मचारी नेता कामरेड टीपी मिश्रा भी कोरोना से जंग हार गए। मूलरूप से कोरांव और अस्थाई रूप से शहर के सोहबतियाबाग निवासी टीपी मिश्रा 24 साल पहले डाक विभाग से सेवानिवृत्त हो गए थे। बीते दिनों उन्हें कोरोना संक्रमण हो गया था। डाक कर्मियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है। 

डिस्चार्ज होने में आई तेजी

कोरोना संक्रमितों को अब डाक्टर स्वस्थ करने में काफी सक्रियता बरत रहे हैं। कोविड अस्पतालों और होम आइसोलेशन से बुधवार को 1843 डिस्चार्ज किए गए। इनमें 71 को होम आइसोलेशन से और 1772 को होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किया गया। 

संक्रमण का फैलाव थामने को जांच तेज

कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कोविड टेस्ट बढ़ा दिए हैं। बुधवार को 12743 लोगों के सैंपल लिए गए। कोविड जांच केंद्रों पर सुबह से शाम तक लोगों की लंबी कतार लगी रही।

सिर्फ अपना बचाव करें

कोविड-19 के नोडल अफसर डा. ऋषि सहाय ने बताया कि कोरोना को बढऩे से रोकने की हर कोशिशें की जा रही हैं। लोगों से सिर्फ यह अपेक्षा है कि आपदा की इस घड़ी में अपना बचाव करें। कोविड-19 की सभी गाइडलाइन का पालन करते रहें। घर से बाहर तभी निकलें जब जरूरी हो।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप