अलीगढ़, जागरण संवाददाता । पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सिर पर 11 लाख रुपये का इनाम घोषित करने के आरोपित भाजपा नेता योगेश वार्ष्णेय की गिरफ्तारी के प्रकरण में पुलिस की जांच जारी है। अब तक पुलिस योगेश व उसके स्वजन के अलावा पड़ोसियों के बयान दर्ज कर चुकी है। पश्चिम बंगाल पुलिस के पुलिस कर्मियों से संपर्क न हो पाने के चलते उनके बयान दर्ज नहीं हो सके हैं।

विश्‍व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता पर हुए लाठीचार्ज पर भाजपा नेता ने दिया था बयान

2017 में पश्चिम बंगाल में वीरभूमि जिले में रैली के दौरान विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं पर हुए लाठीचार्ज को लेकर भाजपा नेता योगेश वार्ष्णेय ने ममता बनर्जी के सिर पर 11 लाख रुपए की इनाम की घोषणा की थी। इस मामले में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुकदमा दर्ज कराया था। इसी प्रकरण में बंगाल पुलिस शुक्रवार को सादा कपड़ों में गिरफ्तारी करने व कुर्की वारंट लेकर पहुंची थी। इसको लेकर भाजपाईयों की पश्चिम बंगाल पुलिस से धक्का-मुक्की व मारपीट तक हो गई थी। सांसद सतीश गौतम, विधायक संजीव राजा, अनिल पाराशर आदि पहुंच गए थे। योगेश पक्ष ने पुलिस कर्मियों पर महिलाओं से अभद्रता व मारपीट करने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा काटा था।

 एसएसपी ने सीओ बन्‍ना देवी को सौंपी थी जांच की जिम्‍मेदारी

प्रकरण में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने सीओ बन्नादेवी मोहसिन खान को जांच सौंपी थी। सीओ ने बताया कि पूरे प्रकरण में योगेश वाष्र्णेय व उनके परिवार से जुड़े सदस्यों के अलावा पड़ोसी व घटनास्थल पर मौजूद लोगों के बयान दर्ज कर लिए हैंं। पश्चिम बंगाल के पुलिस कर्मियों से बयान के लिए संपर्क साधा जा रहा है। अभी संपर्क नहीं हो पा रहा है।

विषाक्‍त पदार्थ के सेवन से महिला की मौत

पिसावा । क्षेत्र के गांव दरगवां में एक महिला की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। इंस्पेक्टर पिसावा जितेंद्र सिंह भदौरिया ने बताया कि गांव के सोनवीर उर्फ सोनू का 28 वर्षीय पत्नी नीतू देवी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। इसको लेकर नीतू ने विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। तबीयत बिगड़ने पर स्वजन उसे उपचार को पहले अलीगढ़ ले गए फिर हालात नाजुक होने पर दिल्ली ले गए। जहां नीतू ने दम तोड़ दिया। नीतू के ससुरालीजनों ने हार्ट अटैक से मौत होने की बात कही हैं। जबकि मायके पक्ष ने ससुरालियों पर हत्या करने का आरोप लगाया है। हालांकि अभी इस मामले में उनकी ओर से काेई तहरीर नहीं मिली है। फिर भी जांच की जा रही है।

Edited By: Anil Kushwaha