अलीगढ़, जेएनएन । अत्याधुनिक बनती जा रही पुलिस की छोटी-छोटी खामियों की वजह से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। सोमवार को पुलिस ने एक घर पर खड़ी स्कूटी का चालान काटकर मालिक के मोबाइल पर भेज दिया। जब मालिक ने चालान देखा तो माथा ठनक गया। उसके पास एक्टिवा स्कूटी थी, जबकि चालान जुपिटर स्कूटी का भेजा गया है। ऐसे में स्कूटी मालिक अब चालान को लेकर भटक रहा है। 

रोजाना काटे जा रहे पांच  सौ चालान

डिजीटल जमाने में यातायात पुलिस ने भी खुद को डिजीटल कर लिया है। इसके तहत ई-चालान व आनलाइन चालान की व्यवस्था शुरू की गई है। ऐसे में रोजाना पांच सौ चालान काटे जा रहे हैं। लेकिन, कई चालानों में गड़बड़ी भी हो रही है। सोमवार को पुलिस ने एक खड़ी स्कूटी का चालान काट दिया। यह घटना बंसल नगर निवासी कमलेश कुमार के साथ हुई। उन्होंने बताया कि उनके पास एक्टिवा स्कूटी है। जबकि उनके पास जुपिटर स्कूटी का चालान काटने के साथ मैसेज भेजा गया है। मैसेज में उन्हीं की स्कूटी का नंबर है। लेकिन, फोटो में दूसरी स्कूटी है। जबकि मेरी स्कूटी बाहर तक नहीं निकली। इस चालान में एक हजार रुपये भुगतान मांगा गया है। ऐसे में समझ नहीं आ रहा है कि इसे कैसे दुरुस्त कराऊं। हालांकि इस तरह के चालान पहले भी हो चुके हैं। इस संबंध में एसपी ट्रैफिक सतीश चंद्र का कहना है कि तकनीकी खामी के चलते ऐसा हो जाता है। कार्यालय में आकर कागजात दिखा दें। चालान को रद कर दिया जाएगा।