अलीगढ़ (जेएनएन)।  कंट्रोलर व सह जिला विद्यालय निरीक्षक (एडीआइओएस) दीप्ति वाष्र्णेय ने एचबी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य व सात बाबुओं का वेतन रोक दिया है। इन लोगों ने चार माह से सेवानिवृत्त शिक्षकों व लिपिकों की पेंशन संशोधन फाइलों को अटका रखा था। कुछ सेवानिवृत्त शिक्षकों ने पेंशन संशोधन फाइलें आगे बढ़ाने के लिए 500-500 रुपये मांगने के आरोप भी बाबुओं पर लगाए थे। सेवानिवृत्त कर्मचारी कॉलेज व डीआइओएस दफ्तर के चक्कर लगा रहे थे, जबकि शासनादेश में साफ है कि पेंशन संशोधन के प्रकरण प्राथमिकता से निपटाए जाएं।

चार माह पहले की शिकायत

एडीआइओएस ने बताया कि तकरीबन चार माह पहले यह प्रकरण उनके पास पहुंचा था। आरोप था कि कॉलेज के बाबू फाइल बढ़ाने के लिए धन वसूली कर रहे हैैं। हालांकि, 500 रुपये लेने की पुष्टि नहीं हुई थी। इसकी जांच व तथ्यों को सामने लाने के लिए कॉलेज से संबंधित प्रकरण व अन्य बिंदुओं पर जानकारी मांगी थी। कॉलेज की ओर से स्पष्ट जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई। इस लापरवाही पर प्रधानाचार्य व लिपिकों का वेतन रोका गया है। वेतन तब तक रुका रहेगा, जब तक तमाम बिंदुओं पर मांगी जानकारी उपलब्ध नहीं कराई जाती। मामले की जांच भी कराई जा रही है। स्थिति स्पष्ट होने पर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।

क्या बोले प्रधानाचार्य

एचबी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य अजय कुमार गुप्ता का कहना है कि बाबू शलभ से कहा है कि जिन लोगों से रुपये लिए हैं, उनको वापस करें। एडीआइओएस ने कुछ बिंदुओं पर जानकारी मांगी थी, जिसे देने देर हुई। उसी पर कार्रवाई हुई है। अब सभी बिंदुओं पर सूचना भेज दी गई है।

Posted By: Mukesh Chaturvedi