अलीगढ़, जागरण संवाददाता। क्वार्सी क्षेत्र के शहंशाहबाद के रिक्शा चालक अशफाक की गला रेंतकर हुई हत्या की गुत्थी को सुलझाने में पुलिस जुट गई है। हत्या के पीछे क्या वजह रही है इसके लिए पुलिस करीबियों को शक के दायरे में लेकर साक्ष्य एकत्रित कर रही है। क्वार्सी के नगला पटवारी स्थित शहंशाहबाद मौलाना आजाद नगर निवासी 32 वर्षीय अशफाक रिक्शा चालक के साथ ही बेलदारी का काम करते थे। बड़े भाई इकबाल के अनुसार अशफाक 14 अक्टूबर की शाम घर पहुंचे थे। फिर कुछ देर बाद ही कहीं जाने की कहकर निकल गए। देर रात तक अशफाक घर वापस नहीं आए तो उनकी तलाश शुरू कर दी गई। रात भर उनका कोई सुराग नहीं लग सका। सुबह जमालपुर रेलवे लाइन के पास अशफाक का खून से लथपथ शव पड़ा मिला। हत्यारों ने छुरे से गर्दन व हाथ की कलाई पर कई वार भी किए थे। सिर में चोट के भी निशान थे। पास ही घटना में प्रयुक्त छुरा भी खून से सना हुआ पड़ा मिला। फोरेंसिक टीम ने भी पहुंचकर घटना से जुड़े साक्ष्य एकत्रित किए हैं।

पत्नी चली गई थी मायके

क्वार्सी इंस्पेक्टर विजय सिंह के अनुसार जांच में पता चला है कि अशफाक का हत्या से छह दिन पूर्व पत्नी शबाना से विवाद हो गया था। पत्नी नाराज होकर मौलाना आजाद नगर स्थित मायके में चली गई थी। जिसे बुलाने को अशफाक कई दिन गया लेकिन उसने वापस ससुराल आने से साफ इन्कार कर दिया। पता चला है कि अशफाक गुरुवार को बेटे को लेकर पत्नी को बुलाने पहुंचा था। पत्नी के मना कर देने से वह बेटे को उसे सौंपकर चला आया था। सीओ सिविल लाइन श्वेताभ पांडे ने बताया कि मामले में कई बिंदुओं पर जांच की जा रही है। कुछ करीबियों को भी शक के दायरे में लेकर पूछताछ की जा रहा है, जल्द घटना का राजफाश किया जाएगा।

Edited By: Anil Kushwaha