जासं, अलीगढ़ : रामघाट रोड पर पीएसी के पास जलभराव से कुछ राहत मिली है। थोड़ा पानी निकल गया है, जिससे वाहन चालक धीरे-धीरे निकल रहे हैं। गड्ढे दिखाई देने लगे हैं। गुरुवार को बारिश थमी रही, जिससे जलभराव नहीं हुआ। सरकारी इंतजाम अभी कोई नहीं किया गया है। पीडब्ल्यूडी ने पत्थर जरूर डलवा दिए हैं, शुक्रवार को इन्हें बिछाया जाएगा। सड़क के निर्माण के लिए इंतजार करना होगा, क्योंकि शासन से अनुमति नहीं मिली है। जनता से जुड़ी इस समस्या को दैनिक जागरण प्रमुखता से प्रकाशित कर रहा है।

रामघाट रोड पर तीन दिन से भीषण जलभराव से स्थिति थी। जलभराव के चलते गड्ढों का अंदाजा नहीं लग पा रहा था। ईंटें पड़ी होने से वाहन चालक अनियंत्रित होकर गिर रहे थे। तीन दिनों से हाहाकार मचने पर भी सरकारी तंत्र ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया। गुरुवार को धीरे-धीरे पानी निकल गया, जिससे वाहन चालकों को निकलने में कुछ आसानी रही। तीन दिनों से हालात बद से बदतर होने के बाद भी पीडब्ल्यूडी, एडीए और जिला पंचायत ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। जिससे राहगीरों व आसपास के लोगों में आक्रोश है। जनप्रतिनिधियों के खिलाफ भी नाराजगी है। शासन से अभी सड़क और नाला निर्माण की अनुमति नहीं मिली है। संभावना जताई जा रही है कि बारिश के बाद ही निर्माण कार्य शुरू हो सकेगा। गुरुवार को पीडब्ल्यूडी ने पत्थर डलवा दिए हैं, जिन्हें बिछाया जाएगा। फौरी तौर पर राहत देने के लिए ईंटों का खड़जा किया जा सकता है। अधीक्षण अभियंता अनिल कुमार शर्मा ने बताया कि लखनऊ में प्रमुख अभियंता से मुलाकात हो गई है। कोई न कोई रास्ता जरूर निकाला जाएगा।