गौरव दुबे, अलीगढ़ । कड़ाके की ठंड के बीच सियासी मैदान में पूरी तरह से गर्माहट है। प्रदेश में चुनावी हलचलें तेज हैं। नेता हों या कार्यकर्ता जुबानी जंग पूरे उफान पर है। पहले चरण के चुनाव की रणभेरी भी बज चुकी है। नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई है। अलीगढ़ में कांग्रेस और भाजपा की एक सीट को छोड़ दिया जाए तो तकरीबन सभी दलों ने टिकट भी घोषित कर दिए हैं। ऐसे में सभी दल अब धुआंधार प्रचार में कूदने को तैयार हैं। मगर इस बार हाईटेक प्रचार ही प्लेटफार्म बन गया है। इसलिए वर्चुअली चुनावी प्रचार के लिए इलेक्ट्रानिक्स का बाजार भी गर्मा गया है। लैपटाप हो या ईयर फोन, कैमरा हो या स्मार्टफोन हर उपकरण की डिमांड में 25 से 30 फीसद की बढ़ोतरी हुई है।

संक्रमण को देखते हुए रैलियों पर रोक

चुनाव आयोग ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए रैली, सभाएं आदि पर रोक लगा दी है। इसलिए सभी दल अब वर्चुअली मैदान में कूद पड़े हैं। विभिन्न राजनीतिक दल भी अपने इंटरनेट मीडिया और आईटी सेल को मजबूत करने में जुट गए हैं, जिससे अपने प्रचार को वो बूथ लेवल तक ले जाएं। अब ये तो समय ही बताएगा कि कौन इस वर्चुअली चुनावी मैदान में बाजी मारता है? स्थिति यह है कि बाजार में इलेक्ट्रिक सामानों की बिक्री बढ़ गई है। लैपटाप, स्मार्टफोन, ईयर फोन, वाईफाई, हेडफोन व कैमरे आदि कई ऐसे उपकरण हैं, जिनकी मांग बढ़ने से बाजारों में भी गर्मी आ गई है। भाजपा, सपा, कांग्रेस, बसपा आदि दलों के नेता भी तैयारी में जुट गए हैं। उनके समर्थक अभी से सारी सुविधाओं से लैस हो जाना चाहते हैं, जिससे इस बार वर्चुअली चुनावी प्रचार में वो किसी से कमतर न रहें। बाजार में भी तैयारी हो गई है, इलेक्ट्रानिक के दुकानदारों ने भी तमाम सामान खरीद लिए हैं।

इन उपकरणों की बढ़ी डिमांड

स्वर्ण जयंती नगर स्थित सोनवानी इलेक्ट्रानिक्स के संचालक सनी सोनवानी बताते हैं कि कुछ दलों के कार्यकर्ता हेडफोन व माइक की डिमांड कर चुके हैं। फोम कवर्ड माइक से संदेश स्पष्ट सुनाई पड़ता है। इनकी कीमत 200 रुपये से एक हजार रुपये तक रहती है। साधारण माइक 100-150 के भी आते हैं। वहीं हेडफोन भी 150-200 रुपये से 1500 रुपये तक की रेंज के हैं। ईयर फोन (लीड) की मांग भी ज्यादा आ रही है। ये भी 150 से 600 रुपये तक की रेंज में हैं।

लैपटाप व कैमरे की भी बढ़ी मांग

देव कंप्यूटर्स संचालक देवेंद्र सिसोदिया बताते हैं कि उनकी शाप पर लैपटाप की डिमांड बढ़ी है। मल्टी मीडिया वाले कैमरा युक्त लैपटाप जिनकी शुरुआत 35 हजार रुपये से है, की डिमांड ज्यादा है। करीब 25 से 30 फीसद तक की मांग बढ़ी है। साथ ही डेस्कटाप यानी घर पर रखे कंप्यूटर में कैमरा लगवाने के लिए भी मांग आ रही है। ये कैमरे 1500 रुपये से छह हजार रुपये तक आते हैं। कंप्यूटर पर कैमरा लगवाने से वीडियो कांफ्रेंसिंग भी हो सकेगी।

वाईफाई डोंगल की भी बढ़ी मांग

वर्चुअली चुनाव प्रचार के लिए इंटरनेट की आवश्यकता सबसे अहम है। इसलिए अलग-अलग नेटवर्क के वाईफाई डोंगल की भी मांग बढ़ गई है। सनी सोनवानी ने बताया कि 1000 रुपये से 2000 हजार रुपये तक के वाईफाई डोंगल आते हैं। इनमें विभिन्न इंटरनेट प्रदाता कंपनियों के सिमकार्ड पड़कर प्लान रिचार्ज हो जाते हैं। दो, ढाई, तीन हजार रुपये तक अलग-अलग स्पीड व अनलिमिटेड डेटा वाले प्लान लिए जा रहे हैं।

आनलाइन मोड में होगा सर्च आपरेशन

जिले का युवा भी नामांकन पत्र भरने के बाद प्रत्याशियों के आनलाइन डेटा से सर्च आपरेशन करेगा। सही व विश्वसनीय प्रत्याशी को चुनकर ही वोट डालने का मन युवा बना चुके हैं। इसके लिए प्रत्याशी की कुंडली तक खंगालने को युवा तैयार हैं। सर्च आपरेशन के बारे में युवाओं ने क्या कहा? आप भी जानिए...।

इनका कहना है

एक तरफ वर्चुअल प्रचार होगा दूसरी ओर युवा वर्ग प्रत्याशियों की कुंडली भी आनलाइन माध्यम से खंगालेंगे। शिक्षित व युवा प्रत्याशी को ही वोट दिया जाएगा। सभी के नामांकन होने का इंतजार है।

अमित चौधरी, जट्टारी

सभी प्रत्याशियों के नामांकन के बाद डेटा आनलाइन होगा। इसके जरिए सभी का सर्च आपरेशन किया जाएगा। युवाओं के लिए काम करने वाले व शिक्षित प्रत्याशी को ही वोट देंगे।

लोकेश नागर, डिफेंस कंपाउंड

Edited By: Anil Kushwaha