अलीगढ़, लोकेश शर्मा। नगर निगम सीमा में शामिल हुए 19 गांव तीन साल बाद भी विकास के अछूते हैं। सीमा वृद्धि के बाद भी नगर निगम इन गांव में सड़क, सफाई और पेयजल व्यवस्था पटरी पर नहीं ला सका। अधिकार छिन जाने पर ग्राम पंचायतों ने हाथ खड़े कर लिए और बजट के अभाव में निगम अधिकारी आगे कदम नहीं बढ़ा पा रहे। ऐसी परिस्थितियों में गांव की जनता खुद को ठगा सा महसूस कर रही है। शहरी सीमा में आने का भी उन्हें कोई लाभ नहीं मिल सका। 

यह हैं मौजूदा हालात

सीमा विस्तार में कोल तहसील के 19 गांव नगर निगम के दायरे में आ गए थे। इसके बाद इन क्षेत्रों के हालात और विकट हो गए। ग्राम पंचायतों ने यह कहकर सड़क, सफाई व अन्य विकास कार्यों से पल्ला झाड़ लिया कि गांव निगम सीमा में है तो कार्य भी वही कराएगा। इधर, निगम निगम बजट के अभाव में विकास कार्य नहीं करा पा रहा। ग्रामीणों ने इसको लेकर कई बार डीएम से लेकर शासन तक गुहार लगाई। तब जाकर निगम ने इन क्षेत्रों को वार्ड घोषित कर वार्ड सचिव नियुक्त कर दिए। सफाई कर्मियों की भी तैनाती करा दी। लेकिन कर्मचारी वहां पहुंचे ही नहीं। सफाई कार्य भी बेपटरी हो गया। सराय हरनारायण में लोग पानी काे तरस रहे हैं। वाटर लाइन है, लेकिन इसमें पानी नहीं आ रहा। हैंडपंप खराब पड़े हैं। सड़कें बदहाल हैं। कमोवेश यही हाल क्वार्सी, बरौला जाफराबाद, धनीपुर, जलालपुर, रामगढ़ पंजीपुर, सारसौल, एलमपुर आदि गांव का है। क्वार्सी क्षेत्र की चौधरी विहार कॉलोनी में सड़क, नाली न बनने से मुख्य मार्ग पर जलभराव है। आवागमन में लोगों को काफी दिक्कत हाेती है। रामगढ़ पंजीपुर के लोग भी शिकायत कर चुके हैं, लेकिन हर बार आश्वासन ही मिलता है। 

कर्मियों का नहीं हुआ समायोजन

सफाई कर्मियों का समायोजन न होने से भी गांव में समस्या बनी हुई है। दरअसल, वार्डों में कर्मचारियों की निश्चित संख्या नहीं है। कहीं ज्यादा हैं तो कहीं कम। कर्मचारियों का समायोजन कर गांव में तैनात किए जाने की योजना थी। कुछ गांव में तैनाती हुई भी थी, लेकिन कर्मचारी पुराने वार्ड में ही पहुंच गए। विभागीय अधिकारियों ने भी नहीं टोका। अब अधिकारी आउटसोर्सिंग के जरिए भर्ती कर कर्मचारियों की पूर्ति करने विचार कर रहे हैं।

सड़क, नाली न होने से जलभराव के हालात हैं। सड़क पर बड़ी मुश्किल से निकल पाते हैं। शिकायतें भी कीं, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही। 

- कृष्ण कुमार, चौधरी विहार

कई बार शिकायत कर चुके हैं लेकिन कुछ हुआ नहीं। सड़क न बनने से काफी परेशानी हैं। जलभराव से बीमारियां फैलने का भय है। 

- हिम्मत सिंह लोधी, सराय हरनारायण

पानी की काफी समस्या है। चार हैंडपंप पर पूरा गांव निर्भर है। बाकी हैंडपंप खराब पड़े हैं। नलकूप से आपूर्ति हो नहीं रही। 

- योगेश गुप्ता, सराय हरनारायण

 निगम सीमा शामिल गांव में वार्ड सचिव भी नियुक्त कर दिए हैं। वाटर लाइन का काम शुरू कराया जा रहा है। बाकी विकास कार्यों के लिए बजट का इंतजार कर रहे हैं। 

- अरुण कुमार गुप्त, अपर नगर आयुक्त

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस