अलीगढ़, जेएनएन। योगी सरकार के पार्ट - टू के पहले आम बजट में अलीगढ़ को नए औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने की सौगात मिली है। इससे अति सूक्ष्म, लघु़, मध्यम व कुटीर उद्योग (एमएसएमई) को बढावा मिलेगा। योगी सरकार ने प्रयागराज, प्रतापगढ़, मोहबा व अलीगढ़ के नए औद्योगिक क्षेत्र को विकसित करने के लिए 50 करोड़ रुपये का बजट दिया है। इससे ताला-हार्डवेयर व अन्य अलीगढ़ निर्मित उत्पादनों के निर्माण को आधुनिकता से जोड़ा जा सकता है।

यह है योजना

अलीगढ़ में तीन औद्योगिक क्षेत्र हैं। इनमें आइटीआइ रोड स्थित इंडस्ट्री एस्टेट, रामघाट-कल्याण मार्ग स्थित ताला नगरी व अनूप शहर रोड स्थित सीडीएफ औद्योगिक क्षेत्र शामिल हैं। इन तीनों औद्योगिक क्षेत्र में छोटी बड़ी मिलाकर दो हजार प्लाट आवंटित किए गए हैं। इनमें से 1200 यूनिट ताला, हार्डवेयर व अन्य प्रोससिंग से जुड़ी हैं। शहर में अभी भी पांच हजार अति सूक्ष्म कारखाने संचालित हैं। कुछ उद्यमी चाह कर भी अपनी यूनिट को शहर से बाहर सिफ्ट नहीं कर सकते। ना ही वे अपने कारोबार को आधुनिकता से जोड़ सकते थे। जिला प्रशासन ने जिले में चौथी औद्योगिक आस्थान बनाने का प्रस्ताव भेजा। जिला प्रशासन ने जीटी रोड से सोमना मार्ग स्थित ग्राम ख्यामई के निकट इस नए औद्योगिक क्षेत्र को विकसित करने के लिए जमीन 48.08 हेक्टयर जमीन का अधिगृहण किया गया। जिला उद्योग विभाग ने इसे राजस्व विभाग से कब्जे में ले लिया है। उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम इसे विकसित करेगा। इसकी डीपीआर तेयार की जा रही है। 160 प्लाट आवंटित करने की योजना इसमें एक हजार से चार हजार वर्ग मीटर तक प्लांट मिलेगे। लोन सिडबी से यूपीएसआइसी एप्रोच कर रही है। इस औद्योगिक क्षेत्र को विकसित करने के लिए जिला उद्योग विभाग इसकी डीपीआर तैयार कर रहा है।

युवाओं को मिलेगा रोजगार

जिला उद्योग विभाग के उपायुक्त श्रीनाथ पासवान ने बताया है कि ख्यामई में औद्योगिक क्षेत्र विकसित हाेने से एमएसएमई को आधुनिकता से जोड़ा जाएगा। शहर के जिन उद्यमियों को अपने कारोबार को विकसित करना था, यह जमीन पर मोटी राशि खर्च नहीं कर पा रहे थे, वे अब इस औद्योगिक क्षेत्र में भूखंड ले सकते हैं। लघु उद्योग भारती के प्रदेश संयुक्त महासचिव गौरव मित्तल ने बताया है कि ताला नगरी में सभी भूखंड आवंटित किए जा चुके हैं। नई पीड़ी के लिए यह औद्योगिक क्षेत्र योगी सरकार की सबसे बड़ी सौगात है। इससे स्वरोजगार की धार पैनी होगी। सामाजिक कार्यकर्ता अन्नू सिंधि ने कहा कि शहर में प्रदूषण फैलाने वाली इकायों को सिफ्ट करने का मौका मिलेगा। शहर को राहत मिलेगी। वहीं युवाओं को रोजगार दिया जाएगा।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena