जागरण संवाददाता, अलीगढ़ :

जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : बड़ी संख्या में लोगों का मतातरण कराने के आरोप में गिरफ्तार किए गए उमर गौतम का अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवíसटी (एएमयू) से भी नाता रहा है। यूनिवíसटी के कैनेडी हाल में उसने भाषण दिया था। इसका एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वह इस्लाम के महत्व पर जोर देता दिख रहा है। देर शाम इस वीडियो को यूट्यब से रिमूव भी कर दिया गया। वीडियो 2017 का बताया जा रहा है। वहीं, पिछले एक साल के अंदर अलीगढ़ के भाई-बहन ने मतातरण कर लिया। लड़की ने एएमयू में पढ़ाई की थी। उसने एएमयू के एक मुस्लिम छात्र से शादी कर ली। युवक एएमयू में अभी पीएचडी का छात्र है।

एएमयू में उमर गौतम ने एक मझे हुए वक्ता के रूप में उर्दू में भाषण दिया था। जिसमें उसने अपने बारे में सबकुछ बताया। कहा, उत्तराखंड की एक यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के दौरान ही इस्लाम कबूल किया था। श्याम प्रताप गौतम से मो. उमर बना। इसके लिए मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं था। मेरे बाद ही सात छात्रों ने दीन अपनाया। इनमें एक यादव छात्र का नाम मैंने ही रखा। उसके भाषण से साफ झलक रहा है कि उसका मकसद क्या है। उसने दिल्ली में चलाए गए सेंटर के बारे में भी बताया। कहा, इस सेंटर में हर माह 10 से 15 लोग दीन अपनाने के लिए दस्तावेज से जुड़ी जानकारी लेने आते हैं। दीन अपनाने के बाद ही वह 18 बार इंग्लैड, चार बार अमेरिका, अफ्रीका आदि देशों में यात्रा पर गया।

वीडियो हटाया : यू ट्यूब पर वायरल हुए इस वीडियो को रात नौ बजे के करीब अपलोड करने वाले ने रिमूव कर दिया। जबकि शाम तक लोगों ने इसे खूब देखा । इसे किसने रिमूव किया ये जानकारी नहीं मिल सकी।

हरिओम नगर के बहन-भाई ने किया मतांतरण

उमर के गिरफ्तार होने और उसके संबंध एएमयू से निकलने पर एक मामला और सामने आया है। शहर के सिविल लाइंस क्षेत्र के हरिओम नगर निवासी बहन-भाई के भी मंतातरण करने की जानकारी मिली है। भाई ने लोकडाउन के दौरान एक साल पहले दीन अपनाया, जबकि उसकी बहन 2021 में इस्लाम कबूला । खास बात ये है कि लड़की ने 2015 के आसपास एएमयू के राजनीतिक विज्ञान विभाग से बीए और एमए की पढ़ाई की। इसी विभाग से पीएचडी कर रहे बिहार निवासी छात्र से उसने शादी कर ली। नाम भी बदल लिया। बहन-भाई के मतांतरण से उमर गौतम से क्या ताल्लुक है ये तो स्पष्ट नहीं हो सका है, लेकिन चर्चा खूब हो रही है। स्थानीय पार्षद पुषपेंद्र जादौन ने बताया कि 2016 में बहन-भाई के पिता की एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी। दोनों मां के साथ ही हरिओम नगर स्थित अपार्टमेंट में रहते थे। इनका एक मकान लखनऊ में भी है। इनकी मां फिलहाल लखनऊ में बताई गई हैं। बहन-भाई से किसी का संपर्क नहीं हो सका है। पता ये भी चला है कि बहन-भाई एक बिल्डर के संपर्क में आए थे। इसके बाद ही यह सब हुआ।

जिस युवती के मतांतरण कर एएमयू छात्र के शादी करने की बात कही जा रही है उसने यूनिवर्सिटी से बीए व एमए की पढ़ाई की है। छात्र पीएचडी कर रहा है। उमर गौतम के एएमयू में आने की जानकारी नहीं है। उसने कैनेडी हाल में भाषण दिया था या नहीं ये भी जांच का विषय है।

- प्रो. एम वसीम अली, प्राक्टर एएमयू

एएमयू से उमर गौतम के नजदीकी की हो जांच : भाजपा के पूर्व जिला प्रवक्ता डा. निशित शर्मा ने आरोप लगाया है कि उमर गौतम के एएमयू से संबंध थे। एएमयू में कंपैरेटिव रिलीजस स्टडीज के तहत आयोजन कराए जाते रहे हैं, जो मतांतरण को प्रेरित करते हैं। पूरे मामले की गहनात से जांच होनी चाहिए।

Edited By: Jagran