अलीगढ़, जागरण संवाददाता: एटीएम कार्ड बदलकर लोगों के साथ धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के फरार चल रहे दो सदस्यों का कोई सुराग नहीं मिला है। इस गिरोह के एक आरोपित को क्वार्सी पुलिस आपरेशन 420 के तहत गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है। गिरोह ने क्वार्सी क्षेत्र में दो घटनाओं को अंजाम दिया था। लेकिन, पकड़े गए आरोपित से कोई बरामदगी नहीं हो सकी। ऐसे में पुलिस को फरार चल रहे दो लोगों की तलाश है। माना जा रहा है कि इनके पकड़े के जाने के बाद बरामदगी हो सकेगी।

सात मई को साधु अश्रम स्थित गांव चैंडोला निवासी मेघ सिंह के साथ धोखाधड़ी हुई थी। मेघ सिंह रामघाट रोड पर निरंजनपुरी स्थित एसबीआइ के एटीएम से रुपये निकालने आए थे। तभी लाइट चली जाने के कारण कार्ड मशीन में फंस गया। मेघ सिंह इसकी शिकायत करने के लिए बैंक में गए।

इसके पीछे किसी ने कार्ड बदलकर 48 हजार 20 रुपये पार कर दिए। बाद में उन्हें कार्ड के बदलने का एहसास हुआ। इससे पहले नौ अप्रैल को अवंतिका फेज 2 निवासी रविंद्र सिंह सिसोदिया के साथ भी इसी तरह ठगी हुई थी। रविंद्र रामघाट रोड स्थित एचडीएफसी बैंक में रुपये निकालने आए थे। कैश न होने पर रुपये नहीं निकले। लेकिन, कुछ देर बाद मैसेज आया कि 46 हजार 755 रुपये कटने का मैसेज आया। किसी ने कार्ड बदलकर रुपये निकाल लिए थे।

इस मामले में क्वार्सी इंस्पेक्टर विजय सिंह ने इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर की टीम ने सीसीटीवी की मदद से आरोपित बुलंदशहर के थाना सलेमपुर के चिट्टा निवासी वाहिद को स्वर्ण जयंती नगर से धोखाधड़ी के 1400 रुपये के साथ दबोच लिया था। इंस्पेक्टर ने बताया कि गिरोह के दो शातिर फरार हो गए थे। आरोपितों की तलाश में टीमें लगी हुई हैं।

Edited By: Aqib Khan