हाथरस, जेएनएन। शहर में सड़कों को खोदकर डाल दिया गया है। पाइपलाइन बिछाने के लिए खोदी गईं सड़कें दुर्घटना का कारण बन रही हैं। शहर में करीब 20 से अधिक सड़के खुदी होने से राहगीरों के साथ स्थानीय लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

1500 मीटर की सड़क को 20 जगह से खोदा गया

शहर में सड़कों को खोदकर डाल दिया जा रहा है। यह सिलसिला अभी थमा नहीं है। अब मंडी समिति वाली सीमेंटेड सड़क को खोद दिया गया है। तमनागढ़ी से लेकर नगला अलगर्जी तक करीब 1500 मीटर के इस मार्ग को 20 जगह खोदकर डालदी है। वैसे ही यह सड़क संकुचित है। उसके बाद भी अवैध रूप से बने लोगों के चबूतरे व सीढ़ियों को बचाने के लिए सीसी रोड को उखाड़ दिया गया है। उसका मलबा भी सड़क के किनारे ही डाल रखा है। इससे यहां से गुजरने वालों वाहन चालकों के साथ राहगीर आए दिन दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं।

शहर में उखाड़ दी हैं 20 से अधिक सड़कें

सड़क किनारे पाइपलाइन डालने के लिए उन्हें उखाड़ दिया गया है। शहर में यह अलीगढ़ रोड, आगरा रोड, बीए मिल रोड, सादाबाद गेट, मुरसान गेट, मधुगढ़ी, मथुरा रोड की, प्रकाश टाकीज रोड सहित कई सड़कें शामिल हैं। इसके अलावा बाजार व गलियों की सड़कों को भी उखाड़ दिया है। सीसी रोड व इंटरलाकिंग सड़क उखाड़ दी गई हैं।

बनी हुई जलभराव की समस्या

सड़कों को उखाड़ने के बाद उसे वैसे ही मलवे को ऊपर से डाल दिया जाता है। इससे यहां पर जलभराव की समस्या पैदा हो रही है। लाखों रुपये से बनी सड़कों का बुरा हाल कर दिया है। यहां से राहगीरों के अलावा स्थानीय लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं ईओ अनिल कुमार ने बताया कि इस समस्या का समाधान जल्द करा दिया जाएगा।

Edited By: Anil Kushwaha