अलीगढ़, जागरण संवाददाता। करवाचौथ पर्व पर हर सुहागिनों में उत्साह रहता है, मगर नवविवाहिताओं में उल्लास देखते ही बनता है। शादी के बाद उनका पहला व्रत है। इसलिए उन्होंने खास तैयारियां की हैं। तमाम नवविवाहिताओं के परिवारों में तो उनके मायके से पूजन के सामान, कपड़े, उपहार आदि आ गए हैं। वहीं, पति के साथ उन्होंने बाजार में भी जमकर खरीदारी की है। बस सभी को रविवार की सुबह का इंतजार है, सुबह व्रत का संकल्प लेकर रात में चंद्रमा का दर्शन करेंगी। आइए, जानते हैं नवविवाहिताओं ने क्या खास तैयारियां की हैं।

सुख-समृद्धि की करुंगी कामना

आइटीआइ रोड स्थित कपिल विहार निवासी आयुषी वाष्र्णेय की पहली करवाचौथ है। वह रविवार को व्रत को लेकर काफी उत्साहित हैं। आयुषी का कहना है कि पति मिलिंद गुप्ता के साथ उन्होंने मार्केट कर ली है। उन्होंने मेरे लिए गिफ्ट लिए हैं, मगर अभी बताया नहीं है। उनका कहना है कि सरप्राइज देंगे। मम्मी-पापा के घर से उपहार आ गए हैं। बस सुबह से व्रत रखकर परिवार के सुख-समृद्धि की कामना करूंगी।

जमकर की खरीदारी

नौरंगाबाद निवासी अपूर्वा सिंह भी व्रत को लेकर काफी उत्साहित हैं। उनका कहना है कि व्रत की तैयारियों को लेकर मैने सासु मां से जानकारी कर ली है। सुबह निर्जला व्रत रखूंगी। शाम को परिवार के साथ पूजन करूंगी। चंद्रमा का दर्शन करके अघ्र्य देंगी। अपूर्वा कहती हैं कि पति पंकज सिंह के साथ कपड़े आदि की खरीदारी कर ली है। परिवार के सदस्यों के लिए भी उपहार खरीदें हैं।

पूजन की खास तैयारी

विद्यानगर निवासी सुव्रता चौहान ने कहा कि हर स्त्री के लिए करवाचौथ का व्रत खास होता है, मगर नवविवाहिताओं में तो खासा उत्साह रहता है। मुझे व्रत का बेसब्री से इंतजार है। भले ही दिनभर जल ग्रहण न करना पड़े, मगर परिवार की सुख-समृद्धि के लिए निर्जला व्रत रहूंगी। पूजन की सारी विधि की जानकारी मैने कर ली है। शाम होते ही पूजा की शुरुआत कर दूंगी, जिससे रात 8.30 बजे तक पूजन पूर्ण हो जाए। इसके बाद पति कुलदीप कुमार राघव के साथ चंद्रमा के दर्शन करूंगी।

सबसे खास है दिन

खैर निवासी मनीषा सिंह का कहना है कि करवाचौथ को लेकर खास उत्साह है। व्रत में कौन से कपड़े पहनने हैं, उसे मैंने पति विनीत के साथ सलेक्ट कर लिए हैं। हाथों में मेहंदी रचाई है। हमारे यहां सभी आंगन में एक साथ पूजन करते हैं, इसलिए सुंदर रंगोली बनाऊंगी और फिर परिवार के साथ पूजन करुंगी। मां गौरी का ध्यान करके परिवार की सुख-समृद्धि के लिए कामना करूंगी। रविवार का दिन मेरे लिए जीवन का सबसे खास दिन होगा।

सहयोग देना जरूरी

मैं पत्नी के साथ व्रत रखूंगा। मेरा मानना है कि जब हम साथ-साथ सात फेरे लेते हैं तो हर चीज में पत्नी का सहयोग करना चाहिए। सुबह से ही निर्जल रहूंगा और रात में पत्नी के साथ चंद्रमा का दर्शन करके प्रसाद ग्रहण करूंगा।

केशव दास

पत्नी के साथ व्रत रखने से उत्साह बना रहता है। दोनों दिनभर कुछ भी ग्रहण नहीं करेंगे। शाम होते ही पूजन की तैयारी करेंगे और रात में पत्नी के चंद्रमा के दर्शन करने के बाद जल ग्रहण करूंगा।

विपिन कौशिक

Edited By: Anil Kushwaha